बड़ी खबर

गोरखपुर के आईटीएम की दो छात्राओं ने तैयार की स्मार्ट राखी


गोरखपुर । गोरखपुर (Gorakhpur) के इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी एंड मैनेजमेंट (ITM) की कप्यूटर साइंस (Computer Science) की दो छात्राओं (Two Girl Students) पूजा और विजया रानी (Pooja and Vijaya Rani) ने एक स्मार्ट राखी (Smart Rakhi) तैयार की है (Has Prepared) । पूजा ने बताया कि स्मार्ट राखी किसी प्रकार की अनहोनी से पहले लोगों को सचेत करने में काफी कारगर होगी।


इसके अलावा इसके जरिए कोई अप्रिय घटना होने पर राखी में एक बटन दबाने पर परिजनों पर मैसेज और कॉल भेजा जा सकता है। इसे डबल क्लिक करना होगा। यह डिवाइस एक्सीडेंट होने पर संदेश भेजने के साथ ब्लड ग्रुप और दवाओं के बारे में भी जानकारियां साझा करने में सक्षम है। इतना ही नहीं, इससे डाक्टर द्वारा त्वरित इलाज भी किया जा सकेगा।

छात्राओं ने बताया स्मार्ट मेडिकल सेफ्टी राखी को मोटर साइकिल या चार पहिया वाहन चलाते समय आप अपने मोबाइल के ब्लूटूथ से अटैच कर इस्तेमाल कर सकते हैं। स्मार्ट मेडिकल राखी में आप अपने डॉक्टर एम्बुलेंस या परिवार के सदस्यों के नंबर सेट कर सकते हैं और कोई इमरजेंसी होने पर मेडिकल राखी में बटन को दबाते ही आप के सेट नंबर पे कॉल लोकेशन सेंड हो जाता है और मदद हो जाती है। इसे बनाने में 900 रुपए का खर्च आया है। इसमें ब्लूटूथ और बैटरी के अलावा नैनो पार्ट्स का इस्तेमाल किया गया है। यह एक बार चार्ज होने पर तकरीबन 12 घंटे का बैकअप देगा। इसे गाड़ी चलाने पर ब्लूथूट से अटैच किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि भाई की कलाई पे बांध कर अपने मोबाइल के ब्लूटूथ से अटैच कर स्मार्ट राखी के सॉफ्टवेयर में आप अपने भाई-बहन या परिजन, एम्बुलेंस या पुलिस के 3 नंबर सेट कर सकते हैं। इसके साथ ही इस सॉफ्टवेयर में आप अपने ब्लड ग्रुप मेडिकल सम्बंधित जानकारी भी सेव कर सकते हैं। स्मार्ट राखी में एक बटन लगा है जिसे मुसीबत के वक्त महिलाएं इसे दबा कर अपने भाई रिश्तेदार व पुलिस एम्बुलेंस डॉक्टर को लोकेशन भेज सकती है।

एक्सीडेंट के वक्त भी ये राखी हाथ में मोबाइल लिए बिना एम्बुलेंस व डॉक्टर को लोकेशन के साथ कॉल कर सकता है। इस सेफ्टी डिवाइस को राखी के अंदर लगाया गया है। इस डिवाइस को भाई बहन कोई भी इस्तेमाल कर सकता है। आईटीएम इंजिनियरिंग के डायरेक्टर एन.के. सिंह ने बताया कि छात्राओं ने नवाचार की दिशा में अच्छा कदम उठाया है। इनके प्रयास को काफी सराहा जाना चाहिए। इस बार बच्चों ने रक्षाबंधन के मौके पर अपने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और मुख्यमंत्री योगी के चित्र लगा कर उन्हें यह राखी समर्पित की है।

गोरखपुर के क्षेत्रीय वैज्ञानिक अधिकारी महादेव पांडेय ने बताया कि यह काफी अच्छा नवाचार है। इसे गोरखपुर की छात्राओं ने राखी के मौके पर बनाकर सचमुच एक सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इस नवाचार को प्रचारित करने की जरूरत है। अगर इसका उपयोग ढंग से किया गया तो यह सुरक्षा के लिए काफी कारगर सिद्ध हो सकता है।

Share:

Next Post

भवानीसागर जलाशय से पानी छोड़े जाने के बाद कई जिले हाई अलर्ट पर

Sun Aug 7 , 2022
चेन्नई । तमिलनाडु में (In Tamilnadu) भवानीसागर जलाशय से (From Bhawanisagar Reservoir) 1.89 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद (After 1.89 Lakh Cusecs Water Released) कई जिलों में (In Many Districts) हाई अलर्ट पर है (On High Alert) । तिरुचि, तंजावुर और करूर हाई अलर्ट पर हैं। जिला प्रशासन ने स्थानीय लोगों को इन […]