विदेश

गाजा सीमा पर अब तक 43 लोगों की मौत, मरने वालों में 13 बच्चे-3 महिलाएं भी शामिल

येरूशलम/गाजा। येरूशलम (Jerusalem) के अल-अक्सा मस्जिद (Al-Aqsa Mosque) कंपाउंड से इस्राइल पुलिस (Israel Police) व फिलस्तीनियों (Palestinians) में शुरू हिंसा, गाजा सीमा(Gaza border) पर खूनी संघर्ष में बदल चुकी है। इस जंग में अब तक 43 लोग मारे गए (43 people died) हैं जिनमें 13 बच्चे व तीन महिलाएं शामिल हैं। हमले में क्षेत्र के करीब 300 फलस्तीनी जख्मी हुए(300 Palestinians injured) हैं।
इस्राइल-गाजा में 2014 के 50 दिन चली जंग के बाद पहली बार एक-दूसरे पर हजारों रॉकेट दागे गए। देश में गृहयुद्ध के हालात देखते हुए इस्राइल के लॉड शहर में आपातकाल लगा दिया गया है।
इस्राइली सेना के मुताबिक, गाजा से अब तक 1,050 से ज्यादा रॉकेट दागे गए हैं। इनमें से कई कई को देश की हवाई रक्षा प्रणाली ने ध्वस्त कर दिया है। इस्राइल ने गाजा पर कई रॉकेट दागे और हवाई हमले किए। हमास ने 300 रॉकेट दागने की पुष्टि की है।


हमास ने कहा कि उसने तेल अवीव और आसपास की रिहाइशी इमारतों पर रॉकेट दागे। हमलों में इस्राइल की 3 महिलाओं समेत 5 लोग मारे गए और दर्जनों घायल हुए।
इस दौरान इस्राइल के तीन धर्मस्थलों और कई दुकानों को आग लगाने की खबरें द टाइम्स ऑफ इस्राइल अखबार ने प्रकाशित की हैं। प्रदर्शनकारियों ने कई वाहन भी आग के हवाले कर दिए। इस बीच, लॉड शहर में इस्राइल व फलस्तीन अरबों के बीच गृहयुद्ध के हालात देखते हुए पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने आपातकाल की घोषणा कर दी।

हमास ने हदें तोड़ दीं : नेतन्याहू
इस्राइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हमास और छोटे इस्लामी जिहादी कट्टरपंथी गुट ‘हमास’ ने पिछले कई सालों में पहली बार येरूशलम पर हमला कर हदें तोड़ दी हैं और वे अपनी आक्रामकता के लिए भारी कीमत चुकाएंगे।
उधर, देश के रक्षामंत्री बैनी गैंट्ज ने कहा है कि इस्राइल द्वारा किए गए हमले सिर्फ एक शुरुआत हैं और ये हमले आगे भी जारी रहेंगे। दूसरी तरफ हमास के नेता इस्माइल हानिया ने कहा है कि इस्राइल यदि मामले को आगे बढ़ाना चाहता है तो हम भी तैयार हैं और यदि वह रुकना चाहता है तो भी हम तैयार हैं।

इस्लामी देशों में हलचल, सऊदी सख्त
इस्राइल को लेकर इस्लामी देशों में भी हलचल तेज हो गई है। सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने इस्राइल की निंदा करते हुए कहा, इस्राइली बलों ने अल-अक्सा मस्जिद की पवित्रता न कर नमाजियों पर खुला हमला किया है।
सऊदी ने कहा, हम फलस्तीनियों के साथ हैं और तनाव का जिम्मेदार इस्राइल है। मुस्लिम वर्ल्ड लीग ने इस टकराव के लिए इस्राइली सुरक्षा बलों की निंदा की। लीग ने कहा, यह फलस्तीनियों के हक व उनकी मर्यादा पर हमला है। उधर, तुर्की के राष्ट्रपति रैचेप तैय्यप एर्दोगॉन ने अल-अक्सा मस्जिद में हुई झड़पों को लेकर कई इस्लामी देशों के प्रमुखों को फोन किया है।

येरूशलम के माउंट मंदिर में जारी हिंसा पर भारत चिंतित
इस्राइल और फलस्तीनी चरमपंथियों में बढ़ते तनाव के बीच, भारत ने येरूशलम मंदिर में हो रही हिंसा और झड़पों के साथ-साथ शेख जर्राह और पड़ोस के सिलवान में हो रहे निष्कासनों पर चिंता जताई है। भारत ने दोनों पक्षों से यथास्थिति को बदलने से परहेज करने की अपील की है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने पूर्वी येरूशलम के मुद्दे पर हुई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में कहा कि भारत हरम अल शरीफ/माउंट मंदिर में झड़पों एवं हिंसा पर बेहद चिंतित है तथा शेख जर्राह और सिलवान क्षेत्र में हो रहे निष्कासनों पर भी उतना ही चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि भारत दोनों पक्षों से अपील करता है कि वह जमीन पर यथास्थिति को बदलने से बचें। साथ ही कहा कि पुराने शहर में अल जवीया अल हिंदिया- भारतीय आश्रम भी है। तिरुमूर्ति ने ट्वीट में कहा कि भारत ने गाजा से रॉकेट दागे जाने की भी निंदा की है।

Next Post

अमेरिका में मंदिर बनाने गए भारतीय मजदूरों के शोषण पर केस दर्ज

Thu May 13 , 2021
न्यूजर्सी। अमेरिका(America) के न्यूजर्सी(new Jersey) में एक संस्था पर हिंदू मंदिर(Hindu temple) बनाने के लिए भारत (India) से मजदूरों (laborers) को अवैध (Illegally) रूप से ले जाने और कम वेतन देने के आरोप में मुकदमा दायर(Case file) हुआ है। अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई (US Investigation Agency FBI) मामले की जांच कर रही है। मुकदमे में […]