बड़ी खबर व्‍यापार

सरकार ने petrol-diesel पर पिछले एक साल में नहीं लगाया कोई टैक्स

नई दिल्ली। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों (prices of trolium substances) में बढ़ोतरी (Increase) को लेकर विपक्ष के निशाने पर आई सरकार ने कहा कि पिछले एक वर्ष (last one year) में पेट्रोल और डीजल (petrol and diesel) पर कोई केंद्रीय कर नहीं लगाया (No central tax imposed) गया है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी।

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि पिछले एक वर्ष में पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय करों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल के खुदरा बिक्री मूल्यों में हुई वृद्धि उच्च अंतरराष्ट्रीय उत्पाद मूल्यों तथा विभिन्न राज्यों सरकारों द्वारा वसूले गए वैट में वृद्धि के चलते आधार मूल्य में वृद्धि हुई है।

पुरी ने कहा कि सरकार कच्चे तेल, पेट्रोल और डीजल के अंतरराष्ट्रीय मूल्य में अस्थिरता से संबंधित मुद्दे को विभिन्न वैश्विक मंचों पर उठा रही है। पुरी ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों को क्रमश: 26 जून, 2010 और 19 अक्टूबर, 2014 से बाजार निर्धारित बना दिया गया है। इसके बाद से सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियां अंतरराष्ट्रीय उत्पाद मूल्यों तथा अन्य बाजार दशाओं के आधार पर पेट्रोल और डीजल के मूल्य का निर्धारण करती हैं। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

बुझो तो जाने — आज की पहेली

Thu Jul 29 , 2021
29 जुलाई 2021 1. शाम होते जब तन थक जाए,निंदिया रानी लगी बुलाने। मन बावरा दर-दर भटके,चली फिर कहां कहां घुमाने उत्तर…….सपना 2. पल में आए पल में जाए,तपन-शीतल का अहसास कराए उत्तर……..धूप-छाया 3. पंख मेरे पर चिडिय़ा नहीं ,फिर भी सफर कर जाती हूं। पानी से है मेरी दुनिया, बिन पानी मर जाती हूं […]