विदेश

संयुक्त अरब के राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक शेख खलीफा बिन जायद का निधन

नई दिल्‍ली । संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के राष्ट्रपति एवं अबू धाबी के शासक शेख खलीफा बिन जायद अल नाह्यान (Sheikh Khalifa bin Zayed Al-Nahyan) का शुक्रवार को 73 साल की आयु में निधन (death) हो गया। वही पिछले कुछ समय से बीमार थे और उनका इलाज चल रहा था। राष्ट्रपति से जुड़े मामलों के मंत्रालय ने शेख खलीफा के निधन की पुष्टि की है। शेख खलीफा दुनिया के सबसे अमीर शासकों में शामिल थे और उनकी संपत्ति लाखों करोड़ रुपये बताई जाती है।

40 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा
शेख खलीफा 3 नवंबर 2004 से संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक के रूप में सेवाएं दे रहे थे। राष्ट्रपति से जुड़े मामलों के मंत्रालय ने शेख खलीफा के निधन पर 40 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और सभी मंत्रालय, विभाग, संघीय व स्थानीय संस्थान शुक्रवार से काम करना बंद कर देंगे। शेख खलीफा ने अपने पिता मरहूम शेख जायद बिन सुल्तान अल नाह्यान की जगह ली थी, जिन्होंने 1971 में अमीरात के अस्तित्व में आने के बाद 2 नवंबर 2004 को अपने निधन तक संयुक्त अरब अमीरात के पहले राष्ट्रपति के रूप में सेवाएं दी थीं।

शेख खलीफा अबू धाबी के 16वें शासक थे
शेख खलीफा का जन्म 1948 में हुआ था। वह संयुक्त अरब अमीरात के दूसरे राष्ट्रपति और अबू धाबी अमीरात के 16वें शासक थे। शेख खलीफा शेख जायद के सबसे बड़े बेटे थे। UAE का राष्ट्रपति बनने के बाद शेख खलीफा ने संघीय सरकार और अबू धाबी की सरकार के पुनर्गठन में बड़ी भूमिका निभाई थी। उनके शासन में संयुक्त अरब अमीरात ने विकास की नयी ऊंचाइयां भी छुईं। शेख खलीफा की मंजूरी के बाद ही यूएई ने इस्लामी देशों के कट्टर दुश्मन इजरायल के साथ दोस्ती की थी। शेख खलीफा के निधन की खबर पर दुनिया के कई बड़े नेताओं ने परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

पाकिस्तान की जीडीपी से 3 गुना ज्यादा थी संपत्ति
फोर्ब्स के मुताबिक, शेख खलीफा दुनिया के सबसे अमीर शासकों में से एक थे। उनके पास 97.8 बिलियन बैरल का रिजर्व था और इसके अलावा वह कई सोवेरिन वेल्थ फंड्स चलाते थे। फोर्ब्स के मुताबिक, खलीफा की कुल संपत्ति 830 बिलियन डॉलर थी जो कि पाकिस्तान की जीडीपी से भी 3 गुना ज्यादा है।

Share:

Next Post

RBI के इस कदम से भी नहीं थम रही महंगाई, अब ब्याज दरों में हो सकती है 1% की बढ़ोत्तरी

Sat May 14 , 2022
नई दिल्‍ली । रिजर्व बैंक (reserve Bank) ने मई की शुरुआत में ही अचानक ब्याज दरों (interest rates) में वृद्धि कर देश के विशाल मध्यम वर्ग को चौंका दिया था। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने यह कदम महंगाई को थामने के लिए उठाया था। लेकिन रिजर्व बैंक के इस कदम से महंगाई फिलहाल थमती नहीं […]