देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

मप्र में मिले कोरोना के 17 नये मामले, 27 मरीज संक्रमण मुक्त हुए

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh ) में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना के 17 नये मामले (17 new cases of corona in last 24 hours) सामने आए हैं, जबकि 27 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 10 लाख 54 हजार 179 हो गई है। हालांकि, राहत की बात है कि राज्य में लगातार आठवें दिन कोरोना से कोई मौत नहीं हुई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार देर शाम अपने कोविड-19 बुलेटिन में दी है। एक दिन पहले राज्य में 28 नये संक्रमित मिले थे।

कोविड-19 बुलेटिन के अनुसार, शुक्रवार को प्रदेशभर में 4,614 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 17 पॉजिटिव और 4,597 सेम्पल निगेटिव पाए गए, जबकि 14 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पॉजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत (संक्रमण की दर) 0.3 रहा। नये मामलों में इंदौर में 4, जबलपुर और नरसिंहपुर में 3-3, भोपाल और सीहोर में 2-2 तथा बालाघाट, कटनी और शिवपुरी में 1-1 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं, जबकि राज्य के 44 जिलों में कोरोना के नये मामले शून्य रहे। राहत की बात है कि राज्य में शुक्रवार को कोरोना से कोई मौत नहीं हुई। यहां आठ दिन से मृतकों की कुल संख्या 10,771 पर स्थिर है।

प्रदेश में अब तक कुल तीन करोड़ 17 हजार 610 लोगों के सेम्पलों की जांच की गई। इनमें कुल 10,54,179 प्रकरण पाजिटिव पाए गए। इनमें 10,43,254 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें से 27 मरीज शुक्रवार को स्वस्थ हुए। अब यहां सक्रिय प्रकरणों की संख्या 164 से घटकर 154 रह गई। हालांकि, खुशी की बात यह भी है कि राज्य के 29 जिले अब भी पूरी तरह कोरोना संक्रमण से मुक्त हैं। इन जिलों में अब कोरोना का एक भी सक्रिय मरीज नहीं है।

इधर, प्रदेश में 23 सितंबर को शाम छह बजे तक 20 हजार 618 लोगों का टीकाकरण किया गया। इन्हें मिलाकर राज्य में अब तक वैक्सीन के 13 करोड़, 20 लाख, 61 हजार 837 डोज लगाई जा चुकी है। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

फेसबुक, व्हाट्सएप और टेलीग्राम जैसे ऐप भी नए दूरसंचार विधेयक का हिस्सा

Sat Sep 24 , 2022
– नए दूरसंचार विधेयक में साइबर फ्रॉड को रोकने के कई प्रावधान: संचार मंत्री नई दिल्ली। केंद्रीय सूचना और तकनीक मंत्री (Minister of Information and Technology) अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने कहा है कि भारत (India) के पास टेलीकॉम सेक्टर (telecom sector) का नेतृत्व करने की काबिलियत है। उन्होंने कहा कि भारतीय दूरसंचार विधेयक-2022 (Indian […]