टेक्‍नोलॉजी

50 सरकारी वेबसाइटों को किया गया हैक, साल 2021 की तुलना में आठ गुना ज्‍यादा बढ़े अटैक

नई दिल्ली (New Delhi) । केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री (Minister of Electronics and Information Technology) ने शुक्रवार को एक लिखित जवाब में राज्यसभा को बताया कि वर्ष 2022-23 में 50 सरकारी वेबसाइटों को हैक किया गया। भाकपा सांसद बिनॉय विश्वम द्वारा उठाए गए एक संसदीय प्रश्न के जवाब में अश्विनी वैष्णव ने कहा कि भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम (सीईआरटी-इन) को दी गई और ट्रैक की गई जानकारी के अनुसार, केंद्र सरकार के मंत्रालयों की कुल 59, 42 और 50 वेबसाइटें हैं। इन विभागों और राज्य सरकारी की वेबसाइट पर क्रमशः वर्ष 2020, 2021 और 2022 में साइबर अटैक हआ।

CERT-In ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इस दौरान वर्ष 2020 में 2,83,581, वर्ष 2021 में 4,32,057 और वर्ष 2022 में 3,24,620 स्कैम को रोका गया है। केंद्रीय मंत्री वैष्णव (Union Minister Vaishnav) ने आगे बताया कि कहा कि सीईआरटी-इन द्वारा रिपोर्ट की गई और ट्रैक की गई जानकारी के अनुसार वर्ष 2020, 2021 और 2022 के दौरान सरकार से संबंधित कुल 6, 7 और 8 डाटा लीक हुई है। उन्होंने आगे बताया कि समय-समय पर भारतीय साइबर स्पेस पर देश के बाहर और भीतर साइबर अटैक के प्रयास हुए। इस दौरान फेक सर्वर का भी इस्तेमाल हुआ। कई हमले सिस्टम की पहचान छिपाकर भी हुए।


अलग-अलग आंकड़े
पिछले साल दिसंबर में साइबर अटैक को ट्रैक करने वाली कंपनी क्लाउडसेक ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि 2022 में सरकारी वेबसाइट पर करीब 82 साइबर अटैक हुए है जो वर्ष 2021 की तुलना से आठ गुना अधिक है। क्लाउडसेक ने रिपोर्ट में कहा है कि भारत में सरकारी संस्थाओं (government agencies) में साइबर हमलों में लगातार वृद्धि हो रही है।

पिछले पांच साल में बढ़ी घटनाएं
भारत में पिछले पांच साल के दौरान साइबर अटैक की घटनाएं 53 हज़ार से बढ़कर 14 लाख से ज़्यादा हो गई हैं। साल 2022 में पूरी दुनिया में जितने साइबर अटैक हुए उनमें से लगभग 60 प्रतिशत हमले भारत के सिस्टम पर हुए। साइबर सिक्योरिटी फर्म इंडस्फेस की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में सबसे ज्यादा साइबर हमले हुए हैं। 2022 के आखिरी तीन महीनों में दुनिया भर में लगभग 85 करोड़ साइबर हमलों का पता लगाया गया। इनमें से लगभग 60 प्रतिशत मामलों में निशाना भारत था। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम ने भी इस सिलसिले में 2021 तक के आंकड़े इकट्ठा किए हैं। इसमें सामने आया कि, भारत में साइबर हमले लगातार बढ़ते हुए दिखाई दे रहे है।

 

Share:

Next Post

भाजपा कार्यकर्ताओं का दिल्ली की नई आबकारी नीति में कथित घोटाले घोटाले को लेकर आप कार्यालय पर प्रदर्शन

Sat Feb 4 , 2023
नई दिल्ली । दिल्ली की नई आबकारी नीति में (In Delhi’s New Excise Policy) कथित घोटाले से जुड़ी चार्जशीट में (In the Chargesheet related to the Alleged Scam) मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) का नाम आने के बाद (After Naming) भाजपा कार्यकर्ताओं (BJP Workers) ने आम आदमी पार्टी के कार्यालय पर (At AAP Office) […]