देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

भोपाल के बाद सीहोर में भी सूदखोरों से परेशान व्यक्ति ने की आत्महत्या

सीहोर। राजधानी भोपाल (capital Bhopal) में गुरुवार की रात एक परिवार के पांच लोगों ने सूदखोरों से परेशान (troubled by moneylenders) होकर जहर पी लिया था, जिनमें से तीन की मौत हो चुकी है, जबकि दो की हालत गंभीर है। इस घटना के बाद सीहोर जिले में भी एक व्यक्ति ने सूदखोरों से परेशान होकर खुदकुशी कर ली। बताया जा रहा है कि वह शनिवार दोपहर में चलती ट्रेन के सामने कूद गया, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसके आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

कोतवाली थाना पुलिस के अनुसार, शनिवार की दोपहर कोतवाली थाना क्षेत्र के मुरली रेलवे क्रासिंग के पास मुरदी मोहल्ला निवासी 50 वर्षीय परमानंद मंगरोलिया ने चलती ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को उनके पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें दस प्रतिशत ब्याज से परेशानी का जिक्र है। सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं परमानंद अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं। क्योंकि मेरा जीवन बहुत खराब हो चुका है। कुछ लोगों ने मुझे बर्बाद कर डाला है। जितना इन लोगों से पैसा नहीं लिया था उससे कहीं ज्यादा ब्याज दे चुका हूं। दस गुना से ज्यादा ब्याज देने के बाद भी इन लोगों ने मुझे बर्बाद कर डाला। लाखों रुपये इन लोगों ने मुझसे वसूल कर डाले फिर भी हजारों रुपये मेरे ऊपर निकाल रहे हैं। घर में नमक मिर्ची में भी उधारी हो गई है। मुझसे मेरे घर की और बच्चों की हालत नहीं देखी गई। यह लोग मुझे रोज घर आकर गाली देते हैं। मारने की धमकी देते हैं। सुसाइड नोट में दीपक सोनकर, दिलीप सोनकर पुत्र रामदुलारे सोनकर नामक व्यक्ति के नाम लिखे हुए हैं।

सीहोर पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी ने बताया कि मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट और परिजनों के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही है। आरोपित फरार हैं, उनकी तलाश की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि भोपाल के आनंदनगर निवासी एक परिवार के पांच सदस्यों ने सूदखोरों की प्रताड़ना से तंग आकर गुरुवार रात जहर पी लिया था। घटना में एक वृद्धा और उसकी एक पोती ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया था, वहीं शनिवार सुबह दूसरी पोती की सांसों की डोर भी टूट गई। अन्य दो लोगों का गंभीर हालत में उपचार जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले को संज्ञान में लेकर शनिवार को उच्च अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई और सख्त निर्देश दिये थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सूदखोरों के खिलाफ मध्य प्रदेश में सघन अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान सूदखोरों को खोजा जाएगा और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने साफ कहा कि सूदखोरों-साहूकारों की गतिविधियों पर सतत नजर रखी जाए। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

Paytm को दूसरी तिमाही में 473 करोड़ रुपये का घाटा

Sun Nov 28 , 2021
नई दिल्ली। ऑनलाइन पेमेंट सेवा प्रदाता पेटीएम (online payment service provider Paytm) की मूल कंपनी (parent company) वन-97 कम्युनिकेशंस (One-97 Communications) ने दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) के नतीजे घोषित कर दिए हैं। कंपनी को 30 सितंबर 2021 को समाप्त दूसरी तिमाही में एकीकृत घाटा बढ़कर 473 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। कंपनी को एक साल […]