खेल

BCCI छोड़ने के बाद CAB अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी पेश करेंगे सौरव गांगुली, खुद किया ऐलान

नई दिल्‍ली। BCCI के वर्तमान अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की 18 अक्टूबर को उनके पद से छुट्टी हो रही है. वहीं एक बार फिर गांगुली से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल, बीसीसीआई (BCCI ) के अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद गांगुली फिर से बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन (Bengal Cricket Association) के अध्यक्ष पद का इलेक्शन लड़ेंगें. गांगुली इससे पहले भी बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष के रूप में काम कर चुके हैं. वह बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने से पहले सीएबी के अध्यक्ष ही थे.

गांगुली लड़ेंगे सीएबी का चुनाव
बीसीसीआई से छुट्टी होने के बाद सौरव गांगुली सीएबी के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे. गांगुली 2019 में बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से पहले सीएबी के ही प्रेसिडेंट थे. वहीं उनके पद से हटने के बाद जगमोहन डालमिया के बेटे अभिषेक डालमिया बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष बने थे. बता दें कि इस महीने के अंत में सीएबी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हो सकते हैं. बीसीसीआई के वर्तमान अध्यक्ष सौरव गांगुली (President Sourav Ganguly) ने शनिवार को कोलकाता में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि वह बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के आने वाले चुनावों में अध्यक्ष पद के लिए अपनी दावेदारी पेश करेंगे. बता दें कि सीएबी के मौजूदा अध्यक्ष अभिषेक डालमिया का कार्यकाल खत्म हो गया है.



बीसीसीआई से होने वाली है दादा की छुट्टी
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में अध्यक्ष के तौर पर सौरव गांगुली का सफर समाप्त होने वाला है. सौरव गांगुली ने स्वीकार किया है कि वह बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर दूसरी पारी खेलते हुए नज़र नहीं आएंगे. सौरव गांगुली का कहना है कि अब वो किसी और बड़े काम पर फोकस करेंगे. इसके साथ ही पूर्व क्रिकेटर रोजर बन्नी बिना किसी विरोध के बीसीसीआई के नए अध्यक्ष बन सकते हैं.

सौरव गांगुली ने दिया था बड़ा बयान
वहीं बीसीसीआई की कुर्सी जाने को लेकर सौरव गांगुली का कहना है कि कुछ बड़ा करने के लिए आपको बहुत कुछ देना होता है. पूर्व कप्तान ने कहा, ”इतिहास में मेरा विश्वास नहीं रहा है. लेकिन मेरी नज़र इस बात पर रही है कि ईस्ट में इंटरनेशनल लेवल पर खेलने वाले टैलेंट की कमी रही है. कोई भी एक दिन में अंबानी या नरेंद्र मोदी नहीं बन जाता है. आपको ऐसा बनने के लिए सालों तक मेहनत करनी पड़ती है.”

Share:

Next Post

भारत में दी जा रही सब्सिडी पर एकतरफा दृष्टिकोण ना अपनाए विश्व बैंक, वित्तमंत्री ने किया आग्रह

Sun Oct 16 , 2022
नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विश्व बैंक से भारत सरकार की ओर से प्रदान की जाने वाली सब्सिडी के बारे में ‘एकतरफा’ दृष्टिकोण अपनाने से बचने का आग्रह किया है और कहा है कि कमजोर वर्ग के परिवारों को दिए जाने वालपे ‘विकृत सब्सिडी’ और ‘लक्षित समर्थन’ के बीच का अंतर समझना महत्वपूर्ण […]