विदेश

अमेरिका ने किया हिजबुल्लाह के ठिकानों पर हमला, लड़ाकू विमानों ने मचाई तबाही

डेस्क: हमास आतंकियों का साथ दे रहे लेबनान के इस्लामिक संगठन पर इजरायल के बाद अब अमेरिका के लड़ाकू विमानों ने भी बड़ी एयरस्ट्राइक की है। अमेरिका के खतरनाक लड़ाकू विमानों ने हिजबुल्लाह के 2 अहम ठिकानों को तबाह कर दिया है। इससे पहले हिजबुल्लाह ने इजरायल-लेबनान बॉर्डर पर इजरायली क्षेत्र में कई बड़े हमले कर चुका है। जवाबी कार्रवाई में इजरायली सेना ने भी हिजबुल्लाह के कई ठिकानों को ध्वस्थ किया है। मगर इस बार इजरायल के दोस्त अमेरिका ने भी हिजबुल्लाह पर हमला बोल दिया है। अमेरिका का संदेश साफ है कि आतंक का साथ देने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।


गाजा में हमास के खिलाफ इजरायल के अभियानों के साथ-साथ अमेरिकी ठिकानों को निशाना बनाने के जवाब में अमेरिका के लड़ाकू विमानों ने इराक में हिज्बुल्लाह के दो ठिकानों पर हवाई हमला किया है। इससे पहले हिजबुल्लाह ने अमेरिकी सैनिकों पर बैलिस्टिक मिसाइल से हमला करके उन्हें उकसाने का प्रयास भी किया था। दो रक्षा अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंगलवार को हिज्बुल्लाह की ओर से अमेरिकी सैनिकों पर कम दूरी की बैलस्टिक मिसाइल दागी गई।

हिजबुल्लाह ने इराक और सीरिया में अमेरिकी अड्डों को बनाता आ रहा है निशाना
अधिकारियों ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि अमेरिकी लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को बगदाद के दक्षिण में अल अनबर और जुरफ अल सकर के पास दो कताइब हिज्बुल्लाह संचालन केंद्रों पर हमला किया। जिस समय हमला किया गया, दोनों जगहों पर कताइब हिज्बुल्ला के जवान वहां मौजूद थे, लेकिन अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि हमले में कोई मारा गया है या नहीं। 17 अक्टूबर के बाद से इराक और सीरिया में अमेरिकी अड्डों पर आज तक, 66 बार हमले किये जा चुके हैं। 17 अक्टूबर को गाजा के एक अस्पताल में विस्फोट में बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे।

Share:

Next Post

वर्ल्ड कप देखने जा रहे बिजनेसमैन की कार में थी शराब, पुलिस ने मांगे 20 हजार रुपये, फिर जो हुआ...

Wed Nov 22 , 2023
अहमदाबाद: गुजरात पुलिस ने गाड़ी में शराब की बोतल ले जाने की अनुमति देने के बदले में दिल्ली के एक व्यवसायी से 20 हजार रुपये रिश्वत लेने के मामले में अपने तीन कर्मियों को निलंबित कर दिया है और ट्रैफिक ब्रिगेड (TRB) के सात कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। एक अधिकारी ने यह […]