देश राजनीति

समाजवादी पार्टी के बागी विधायक से मिले अमित शाह, बंद कमरे में हुई चर्चा

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव प्रचार (Lok Sabha election campaign) के बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) रायबरेली में समाजवादी पार्टी के बागी नेता (Rebel leader of Samajwadi Party in Rae Bareli) और पूर्व चीफ व्हिप मनोज पांडेय से मुलाकात की. रायबरेली में जनसभा को संबोधित करने के बाद अमित शाह पीएसी स्थिति मनोज पांडेय के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की. बताया जा रहा है कि मनोज पांडेय और बीजेपी नेताओं के साथ शाह ने बंद कमरे में एक अहम मीटिंग भी की. इस बैठक में रायबरेली से बीजेपी उम्मीदवार दिनेश प्रताप सिंह भी मौजूद थे.

दरअसल, मनोज पांडेय की गिनती कभी समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेताओं में होती थी. इसी साल फरवरी में यूपी में हुए राज्यसभा चुनाव क्रॉस वोटिंग के बाद वो एक बार फिर से चर्चा में आए. मनोज पांडेय ने बीजेपी प्रत्याशी को वोट दे दिया था. माना जाता है कि स्वामी प्रसाद मौर्य को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाए जाने से वो नाराज चल रहे थे.


राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद समाजवादी पार्टी से उनकी अनबन शुरू हो गई. फरवरी में ऊंचाहार से विधायक मनोज पांडेय ने चीफ व्हिप पद से इस्तीफा दे दिया. लोकसभा चुनाव से पहले सपा का बड़ा ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले मनोज पांडेय के अलग हो जाने से भी पार्टी को बड़ा झटका लगा. कयास यह भी लगाया जा रहा था कि बीजेपी उनको रायबरेली से चुनाव लड़ा सकती है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. पार्टी ने यहां से दिनेश सिंह को उम्मीदवार घोषित कर दिया. माना जा रहा है कि अमित शाह के साथ उनकी यह मीटिंग मौजूदा लोकसभा चुनाव को लेकर हुई है.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शनिवार की रात वाराणसी में गुजारने के बाद रविवार सुबह रायबरेली पहुंचे थे. जहां, उन्होंने एक बड़ी चुनावी सभा की. सभा को संबोधित करते हुए शाह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यहां पर कई लोगों ने मुझे कहा कि ये परिवार की सीट है. उन्होंने कहा कि मैं बहन प्रियंका जी का भाषण सुन रहा था, उन्होंने कहा कि मैं अपने परिवार से वोट मांगने आई हूं. बात तो सही है, रायबरेली वालों ने सालों से गांधी-नेहरू परिवार को जिताया है, लेकिन मैं उनसे पूछता हूं कि यहां से चुनकर जाने के बाद सोनिया गांधी और उनका परिवार रायबरेली कितनी बार आया है? रायबरेली में 3 दर्जन से ज्यादा बड़ी दुर्घटनाएं हुईं, गांधी परिवार आया?

Share:

Next Post

हरियाणा में सियासी संकट! विशेष सत्र बुलाने की तैयारी में सरकार, बहुमत साबित करेंगे CM नायब सिंह सैनी

Sun May 12 , 2024
नई दिल्ली। हरियाणा में भाजपा सरकार (BJP government in Haryana) का सियासी संकट गहराता जा रहा है। नायब सिंह सैनी सरकार (Naib Singh Saini Government) से तीन निर्दलीय विधायकों के समर्थन वापस लेने के बाद बीजेपी सरकार अल्पमत (BJP government minority) में है। इस बीच खबर है कि हरियाणा सरकार विधानसभा का विशेष सत्र बुला […]