विदेश

बांग्लादेश ने कहा- नहीं भूल सकते पाकिस्तान की हैवानियत


ढाका । बांग्लादेश ने पाकिस्तान के झूठ की पोल खोल दी है। दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने हाल ही में फोन पर बातचीत हुई थी। इस बातचीत को लेकर पाकिस्तान ने झूठा दावा किया था। पाकिस्तान की ओर से कहा गया कि इस बातचीत में दोनों नेताओं के बीच कश्मीर पर चर्चा हुई। जबकि बांग्लादेश का कहना है कि इमरान और शेख हसीना के बीच सिर्फ कोरोना और बाढ़ को लेकर बात हुई।

बांग्लादेश के विदेश मंत्री अब्दुल मोमिन ने पाकिस्तान को बेनकाब करते हुए कहा, दोनों देशों के बीच सिर्फ यह कर्टसी कॉल थी। उन्होंने कहा, हम पाकिस्तान की हैवानियत को कभी नहीं भूल सकते। अब्दुल मोमिन ने कहा, हम पाकिस्तान की हैवानियत को कभी नहीं भूल सकते। 1971 के स्वतंत्रता संग्राम में उसने हमारे 30 लाख लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। हजारों महिलाओं के साथ रेप हुआ था। उसने इसे लेकर कभी माफी भी नहीं मांगी।

भारत की पाकिस्तान के बांग्लादेश से भी रिश्ते अच्छे नहीं हैं. दोनों देशों के नेताओं के बीच सिर्फ अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ही मुलाकात होती है, लेकिन इमरान का फोन पर बात करना किसी को सामान्य नहीं लग रहा था। विशेषज्ञों का मानना है कि चीन के इशारे पर ही पाकिस्तान ने बांग्लादेश की तरफ यह हाथ बढ़ाया है।

पाकिस्तान बांग्लादेश से रिश्ते बेहतर करना चाहता है, लेकिन यह आसान नहीं है। बांग्लादेश में अभी भी कई ऐसे लोगों को मौत की सजा दी जा रही है, जिन्होंने 1971 में पाकिस्तान का साथ दिया था। पाकिस्तान इसका विरोध भी करता रहा है. वहीं, बांग्लादेश का कहना है कि यह अंदरूनी मामलों में पाकिस्तान की दखलअंदाजी है।

Share:

Next Post

राफेलः रक्षामंत्री राजनाथसिंह बोले, दुश्मन करे चिंता

Wed Jul 29 , 2020
राजनाथ का विपक्ष पर भी अटैक पीएम के बड़े फैसले के लिए दिया धन्यवाद नई दिल्ली। बरसों से जिस ताकतवर लड़ाकू विमान राफेल का इंतजार हो रहा था, आज दोपहर बाद पांच फाइटर जेट ने अंबाला के एयरबेस पर सिंह गर्जना करते हुए लैंडिंग की। जहां उन्हें वाटर सैल्यूट दिया गया। इसके फौरन बाद देश […]