बड़ी खबर

भारत बायोटेक विकसित कर रही नाक से दिया जाने वाला पहला टीका, पहला चरण सफल

नई दिल्ली । कोरोना महामारी (corona Epidemic) से निपटने के लिए भारत (India) को जल्द ही एक और वैक्सीन मिलने जा रही है. यह वैक्सीन (Corona Vaccine) नाक से ड्रॉप के रूप में दी जा सकेगी.

भारत बायोटेक विकसित कर रही वैक्सीन
जानकारी के मुताबिक यह वैक्सीन भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की ओर से विकसित की जा रही है. कंपनी को इस वैक्सीन के दूसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी मिल गई है. क्लिनिकल परीक्षण के लिए नियामक की मंजूरी मिल गयी है. जैवप्रौद्योगिकी विभाग (DBT) ने कहा कि इस दवा के पहले चरण का ट्रायल 18 साल से 60 साल के लोगों पर किया गया था. जो पूरी तरह सफल रहा है.


नाक से दिया जाने वाला पहला टीका
DBT ने कहा, ‘नाक से दिया जाने वाला भारत बायोटेक (Bharat Biotech) का यह पहला नेजल टीका है. जिसे दूसरे चरण के परीक्षण के लिए नियामक की मंजूरी मिल गयी है.’ इससे डीबीटी ने एक बयान में कहा था कि कंपनी को दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी मिल गई है. यह इस तरह का कोरोना का पहला टीका (Corona Vaccine) है, जिसका भारत में मनुष्यों पर ट्रायल होगा. कंपनी ने इसकी तकनीक सेंट लुईस स्थित वाशिंगटन यूनिवर्सिटी से प्राप्त की थी.

पहले चरण में किसी को नहीं हुआ साइड इफेक्ट
DBT ने कहा, ‘कंपनी ने जानकारी दी है कि पहले चरण के ट्रायल में शामिल लोगों के शरीर ने टीकों की डोज को सहजतापूर्वक स्वीकार कर लिया. कहीं से भी साइड इफेक्ट की जानकारी नहीं है.’ इससे पहले के अध्ययनों में भी टीका सुरक्षित पाया गया है. DBT ने कहा कि पशुओं पर हुई स्टडी में यह टीका एंटीबॉडी का उच्च स्तर बनाने में सफल रहा.

Share:

Next Post

मणिबेन पटेल: गांधीवादी कार्यकर्ता और राजनेता

Sat Aug 14 , 2021
– प्रतिभा कुशवाहा मणिबेन पटेल का एक आसान परिचय तो यही है कि वे महान स्वतंत्रता सेनानी सरदार बल्लभ भाई पटेल की पुत्री थीं, पर वे एक महान स्वतंत्रता सेनानी की पुत्री से बढ़कर देश को गढ़ने वाली स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता और राजनेता भी थीं। गांधीवादी आदर्शों से प्रभावित और उनके ही पदचिन्हों पर […]