विदेश

चीन ने दी गीदड़भभकी, कहा- ‘मालदीव में किसी ने हस्तक्षेप किया तो…’

नई दिल्ली। मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मोइज्जू चीन की यात्रा पर हैं। यहां राष्ट्रपति जिनपिंग से उन्होंने मुलाकात की। भारत विरोधी रुख रखने वाले मोइज्जू ने भारत के दुश्मन चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग से मुलाकात करने के बाद वहां चीनियों को और अधिक मालदीव में पर्यटन के लिए आने के प्रयास की बात कही। इसी बीच भारत और मालदीव में तनातनी का चीन फायदा उठा रहा है। उसने अपने बयान से मालदीव और भारत के बीच तनातनी की आग में घी डालने का काम किया है। चीन ने भारत की ओर इशारा करते हुए कहा कि ‘अगर किसी ने मालदीव के आंतरिक मामले में हस्तक्षेप की कोशिश की तो वह इसका विरोध करेगा।’

इन दिनों मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू चीन के दौरे पर हैं। यहां उन्होंने राष्ट्रपति जिनपिंग से मुलाकात की थी। इस दौरान दोनों देशों के बीच 20 अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। इनमें पर्यटन भी शामिल है। इस मुलाकात के बाद भारत को लेकर एक बयान आया, जिसमें कहा गया कि मालदीव अपने देश में चीन व‍िरोधी गतिव‍िधियों को नहीं होने देगा। साथ मालदीव वन चाइना पॉलिसी का पालन करेगा।


चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने चीन और मालदीव के बीच जारी संयुक्‍त बयान के हवाले से कहा कि चीन मालदीव के आंतरिक मामलों में व‍िदेशी हस्‍तक्षेप का कड़ाई से व‍िरोध करेगा। साथ ही हमेशा मालदीव के लिए खड़ा रहेगा। इतना ही नहीं रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने कहा कि वह पुरजोर तरीके से मालदीव के राष्‍ट्रीय संप्रभुता और राष्‍ट्रीय गरिमा को बरकरार रखने के प्रयासों का समर्थन करेगा। हालांकि इस संयुक्त बयान में भारत का कोई जिक्र नहीं था, लेकिन इस बयान की टाइमिंग ऐसी है, जब भारत और मालदीव में मोइज्जू के भारत विरोधी रुख के कारण तनातनी चल रही है।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बुधवार को मालदीव के अपने समकक्ष मोहम्मद मोइज्जू के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। दोनों देशों ने पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग सहित 20 प्रमुख समझौतों पर हस्ताक्षर किए और द्विपक्षीय संबंधों को व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाने की घोषणा की। चीन और मालदीव के बीच जिन 20 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं, उनमें ब्लू-इकोनॉमी और बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव भी शामिल हैं।

Share:

Next Post

लंदन में ब्रिटिश प्रधान मंत्री ऋषि सुनक से मुलाकात की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने

Thu Jan 11 , 2024
नई दिल्ली । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने लंदन में (In London) ब्रिटिश प्रधान मंत्री ऋषि सुनक (British Prime Minister Rishi Sunak) से मुलाकात की (Met) । बैठक के दौरान सिंह ने संयुक्त अभ्यास, प्रशिक्षण क्षमता निर्माण, विशेष रूप से समुद्री क्षेत्र में अंतर-संचालनीयता और सैन्य-से-सैन्य संबंधों में वृद्धि के साथ […]