देश

तिहाड़ जेल में बंद सीएम केजरीवाल का 8 किलो वजन कम हुआ, AAP ने जताई चिंता

नई दिल्ली(New Delhi) । आम आदमी पार्टी(Aam Aadmi Party) ने दावा किया है कि तिहाड़ जेल(Tihar Jail) में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal) का वजन(weight) लगातार कम होता जा रहा है। पार्टी ने शनिवार को दावा किया कि 21 मार्च को गिरफ्तारी के बाद से शनिवार 22 जून तक सीएम का 8 किलो वजन गिर चुका है, जो बेहद चिंताजनक है। 21 मार्च को जब सीएम की गिरफ्तारी हुई थी, तब उनका वजन 70 किलो था और तभी से लगातार उनका वजन गिरना शुरू हुआ। अंतरिम जमानत की अवधि खत्म होने के बाद 2 जून को वापस न्यायिक हिरासत में जाने के वक्त उनका वजन घटकर 63.5 किलो रह गया था। अब शनिवार को सीएम का वजन और घटकर 62 किलो हो गया है।

डॉक्टरों ने दी कई टेस्ट करवाने की सलाह


आम आदमी पार्टी का कहना है कि मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों ने केजरीवाल के घटते वजन के मद्देनजर उन्हें कई टेस्ट करवाने की सलाह दी थी, जिसके लिए सीएम ने अंतरिम जमानत 7 दिन और बढ़ाने की मांग की थी, लेकिन उनकी जमानत नहीं बढ़ाई गई, जिसके बाद उन्होंने सरेंडर कर दिया। तब से लेकर अब तक एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सीएम के केवल खून से संबंधित ही कुछ टेस्ट ही करवाएं हैं। हार्ट और कैंसर से संबंधित टेस्ट अब तक नहीं हुए हैं, जबकि लगातार वजन घटने को मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों ने बेहद गंभीर बताते हुए कई महत्वपूर्ण टेस्ट कराने की सलाह दी थी।

डॉक्टरों ने डाइट में पराठा और पूड़ी शामिल करने का कहा

पार्टी का कहना है कि अरविंद केजरीवाल का वजन घटने का क्रम अभी भी जारी है। इतने कम समय में 8 किलोग्राम वजन का कम होना बेहद चिंताजनक बात है। हालांकि, एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सीएम के घटते वजन को देखते हुए उनकी डाइट में पराठा और पूड़ी भी शामिल करने के लिए कहा है, लेकिन उनके बाकी के टेस्ट नहीं अभी तक नहीं कराए गए हैं, जो चिंता का विषय है।

Share:

Next Post

Jharkhand Politics: झारखंड विधानसभा चुनाव में नए चेहरे पर दांव लगाने की तैयारी में बीजेपी, जानें समीकरण

Sun Jun 23 , 2024
रांची(Ranchi) । झारखंड(Jharkhand) में वर्ष 2019 के विधानसभा चुनाव (assembly elections)में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने ‘अबकी बार 65 पार का’ नारा दिया था। उस वक्त रघुवर दास मुख्यमंत्री(Raghubar Das Chief Minister) थे और यह माना जा रहा था कि यदि बीजेपी की सत्ता में वापसी(BJP returns to power) हुई, तो रघुवर दास […]