भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

जैन संतों पर टिप्पणी, भोपाल समाज में रोष

भोपाल। जैन संतों के खिलाफ आपत्तिजनक एवं मनगढ़ंत टिप्पणियां सोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट करने वाले योगेशचन्द्र को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर जैन समाज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा एवं डीजीपी विवेक जौहरी से मुलाकात करेगा। यह निर्णय रविवार को प्रोफेसर कॉलोनी जैन मंदिर में हुई भोपाल के सभी मंदिरों के अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों की बैठक में लिया गया। इस बैठक में योगेशचन्द्र और उनके साथियों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया।
योगेशचन्द्र पिछले डेढ़ साल से लगातार सोशल मीडिया पर दिगंबर और श्वेतांबर जैन संतों के खिलाफ बेहद आपत्तिजनक एवं भड़काऊ टिप्पणियां लिखता रहा है। इसके साथ लगभग 5-6 लोग भी ऐसी टिप्पणियां लिखते रहे हैं। योगेशचन्द्र के खिलाफ 4 अगस्त को वरिष्ठ पत्रकार रवीन्द्र जैन ने भोपाल के क्राइम ब्रांच थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। 24 अगस्त को भोपाल पुलिस इसे गिरफ्तार करने उत्तरप्रदेश के एटा जिले के अलीगंज भी पहुंची थी, लेकिन यह फरार हो गया। योगेशचन्द्र की हरकतों से पूरे देश के जैन समाज में आक्रोष व्याप्त है। जैन समाज की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भोपाल पुलिस का आभार व्यक्त किया गया जिन्होंने भोपाल में अपराधिक प्रकरण दर्ज किया। इसके अलावा वरिष्ठ वकील डॉ. विजय चौधरी के प्रति भी आभार व्यक्त किया जिन्होंने भोपाल जिला न्यायालय से योगेशचन्द्र की अग्रिम जमानत निरस्त कराने में सहयोग किया।
रविवार को आयोजित बैठक में प्रतिष्ठाचार्य विमलचन्द्र सौरया, डॉ. विजय चौधरी एडवोकेट, मनोहर लाल टोंग्या, नरेंद्र जैन वंदना, अरविंद जैन सुपारी, पद्म सेठी, विमल जैन राजदीप, प्रमोद चौधरी, अजय जैनको, राजेश जैन, देवेंद्र जैन, आजाद जैन, पवन सुपर, सचेंद्र जैन आदि ने योगेशचन्द्र की हरकतों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। डॉ. विजय चौधरी एडवोकेट ने समाज को भरोसा दिलाया कि योगेशचन्द्र को न्यायालय से सजा दिलाने में वे पूरी मेहनत करेंगे।

Share:

Next Post

रेलवे का निजीकरण आम जनता पर बनेगा बोझ

Mon Sep 7 , 2020
भोपाल। रेलवे के निजीकरण के खिलाफ विभिन्न संगठनों ने हस्ताक्षर अभियान चलाया है। इस अभियान में हिस्सा लेने वालों से जुड़े दस्तावेजों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया जाएगा। यह अभियान 9 अगस्त से शुरू हुआ था, जो 9 सितंबर तक चलेगा। इसके तहत रेल कर्मचारी यूनियनों के साथ मिलकर आम जनता भी जुड़ […]