जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

ठंड में खजूर का सेवन सेहत के लिए वरदान, immunity बढ़ानें के साथ देती है जबरदस्‍त फायदें

नई दिल्‍ली। छुहारा और खजूर एक ही पेड़ की देन है। इन दोनों की तासीर गर्म होती है और ये दोनों शरीर को स्वस्थ रखने, मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ठंड से बचाव के लिए लोग सर्दियों में कई तरह के बदलाव करते हैं। खाने पीने में ऐसी चीजों को शामिल करते हैं जो शरीर को गर्म रख सकें। ड्राईफ्रूट्स खाने का सबसे अच्छा सीजन ठंड का मौसम ही है। सर्दियों में इम्यूनिटी काफी कमजोर हो जाती है। ऐसे में आपको खजूर का सेवन जरूर करना चाहिए। खजूर खाने से शरीर को ताकत मिलती है। शरीर को मजबूत बनाने के लिए आपको हर रोज नियमित रूप से ड्राइफ्रूट्स का सेवन करना चाहिए। खजूर में विटामिन, आयरन, कैल्शियम, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी- बैक्टीरियल और फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं। इससे आपकी इम्यूनिटी मजबूत होती है और शरीर में आई कमजोरी भी दूर होती है। कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद आई कमजोरी को दूर करने में भी खजूर मदद करते हैं। जानते हैं खजूर के फायदे।

1- शरीर को गर्म रखे-
सर्दियों में खजूर खाने से शरीर में गर्माहट रहती है। खजूर की तासीर गर्म होती है। इसलिए आपको ठंड में खजूर को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। आप दूध में डालकर भी खजूर का सेवन कर सकते हैं। इससे शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है।

2- रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए-
रोजाना खजूर खाने से हमारे शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। खजूर में कैल्शियम, आयरन, विटामिन, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट (anti-oxidant) जैसे कई गुण पाए जाते हैं। इन्हें खाने से शरीर को ताकत मिलती है और शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है।

3- दिमाग को स्वस्थ बनाए-
खजूर खाने से नर्वस सिस्टम (nervous system) काफी मजबूत होता है। खजूर में पाया जाने वाला कैल्शियम, आयरन और दूसरे विटामिन काफी ज्यादा मात्रा में पाए जाते हैं। इन्हें खाने से दिमाग भी हैल्थी रहता है।

4- शरीर में खून बढ़ाए-
खजूर आयरन का अच्छा सोर्स माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। नियमित खजूर खाने से शरीर में Red Blood Cells बढ़ते हैं और खून की कमी दूर होती है। खजूर से थकान भी कम होती है।

5- ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखे-
हाई ब्लड प्रेशर(high blood pressure) वाले लोगों को खजूर खाना चाहिए। इससे शरीर में ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। साथ ही दिल से जुड़ी बीमारियां भी दूर रहती हैं। इससे हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है।

नोट– उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं इन्‍हें किसी प्रोफेशनल डॉक्‍टर की सलाह के रूप में न समझें। हम इसकी सत्‍यता व सटीकता की जांच का दावा नही करते हैं। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।

Share:

Next Post

पुरूष भूलकर भी अनदेखा न करें ये लक्षण, इस गंभीर बामारी का हो सकता है संकेत

Fri Dec 3 , 2021
आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया (anemia) की बीमारी अब पुरुषों में भी तेजी से बढ़ रही है। एक स्टडी के मुताबिक, एनीमिया के चलते हर साल तकरीबन 8 लाख लोगों की मौत होती है। एनीमिया की शिकायत अक्सर महिलाओं और बच्चों में ही देखी जाती है। लेकिन एक हालिया स्टडी के मुताबिक, अब […]