Corona : मध्य प्रदेश में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू नहीं, इन 12 जिलों में अलर्ट जारी

भोपाल। मध्य प्रदेश के किसी भी ज़िले को लॉकडाउन (Lockdown) नहीं किया जाएगा और न ही नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगाया जाएगा। मुख्‍यमंत्री शिवराज चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना (Corona) संक्रमण रोकने के लिए हर संभव उपाय किए जाएंगे। क़ोरोना संक्रमण को देखते हुए क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक हो रही है, इसमें सभी उपायों पर विचार किया जाएगा।

मध्‍य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि फिलहाल मध्य प्रदेश के किसी भी ज़िले को लॉकडाउन नहीं किया जाएगा और न ही नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मास्क लगाने के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए रोको-टोको अभियान चलाया जाएगा। मास्क नहीं लगाने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण वहां से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।

गृह विभाग ने किया अलर्ट : इससे पहले महाराष्ट्र में कोरोना बढ़ने पर मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अलर्ट जारी किया गया है। इंदौर (Indore) और भोपाल (Bhopal) में मास्क फिर से अनिवार्य किया गया है। 12 जिलों में सबसे ज्यादा कोरोना का खतरा बताया जा रहा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान की समीक्षा बैठक के बाद आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं।

इन 12 ज़िलों में अलर्ट : गृह विभाग ने आदेश जारी करते हुए इंदौर, भोपाल, होशंगाबाद, बैतूल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर और अलीराजपुर के कलेक्टर को ज्यादा सावधानी और सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। इन 12 जिलों को ऐसे मेले जिनमें महाराष्ट्र से अधिक संख्या में लोगों आते हैं, उसकी जानकारी 24 फरवरी तक गृह विभाग भेजनी होगी।

इंदौर और भोपाल में मास्क अनिवार्य : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में हुई समीक्षा बैठक में कहा कि कोरोना के संबंध में लगातार सतर्कता जरूरी है। थोड़ी सी लापरवाही विकराल रूप ले सकती है। मुख्यमंत्री ने इंदौर और भोपाल में तत्काल मास्क की अनिवार्यता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

मध्य प्रदेश 9वें स्थान पर : देश में केरल और महाराष्ट्र में कोरोना तेजी से फैलने लगा है। मध्य प्रदेश देश में 9वें नंबर पर है। राष्ट्रीय स्तर पर महाराष्ट्र में 42 प्रतिशत और केरल में 33 प्रतिशत मामले प्रतिदिन आ रहे हैं। वहीं मध्य प्रदेश में केवल 2 प्रतिशत ही प्रकरण आ रहे हैं।

सात दिन में इंदौर में 773 केस : अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में पिछले हफ्ते से कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में वृद्धि दिख रही है। पिछले 7 दिनों में प्रतिदिन इंदौर में 110, भोपाल में 57, जबलपुर में 12 प्रकरण आ रहे हैं। इस अवधि में 773, भोपाल में 397 और जबलपुर में 85 प्रकरण रिपोर्ट हुए हैं। बैतूल, छिंदवाड़ा, बड़वानी, दमोह, सीधी, रतलाम और खरगौन में भी प्रकरण बढ़ रहे हैं।

ब्रिटेन से आए 354 यात्रियों का चेकअप : कोरोना के नए स्ट्रेन को देखते हुए प्रदेश में ब्रिटेन से आए सभी 354 यात्रियों का परीक्षण कराया गया। इनमें से 5 यात्री पॉजिटिव पाए गए, जिनमें इंदौर के दो और भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर के एक-एक यात्री थे।

टीकाकरण में मप्र देश में दूसरे नंबर पर : मध्य प्रदेश कोविड टीकाकरण में देश में दूसरे नंबर पर है। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि हेल्थ वर्कर और फ्रंट लाइन वर्कर के संयुक्त रूप से टीकाकरण में 75 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। राजस्थान में यह 76 प्रतिशत है। टीकाकरण में राष्ट्रीय औसत 53 प्रतिशत है, जबकि प्रदेश के 37 जिलों में 75 प्रतिशत से भी अधिक टीकाकरण हो चुका है। डिंडौरी 93 प्रतिशत, भिंड 89 प्रतिशत, अलीराजपुर, सीहोर और छतरपुर में टीकाकरण का प्रतिशत 87 प्रतिशत है।

Next Post

घर के बाहर से दो बच्चियां हुईं लापता, एक का शव खेत में मिला, दूसरी का...

Tue Feb 23 , 2021
शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर (Shahjahanpur) में उस समय सनसनी फैल गई जब घर के बाहर खेल रही दो बच्चियां लापता हो गईं। सोमवार 3 बजे लापता हुई बच्चियों में से एक का शव सरसों के खेत में मिला, जबकि दूसरी बच्ची खून से लथपथ गन्ने के खेत में मिली। […]

Know and join us

www.agniban.com

month wise news

March 2021
S M T W T F S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031