विदेश

यूक्रेन में अब करप्शन वॉर, जेलेंस्की ने डिप्टी डिफेंस मंत्री समेत कई अधिकारियों से लिया इस्तीफा

नई दिल्ली: रूस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे यूक्रेन के सामने भ्रष्टाचार एक बड़ी चुनौती बनकर उभरी है. यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की पिछले कुछ दिनों से उन नेताओं और अधिकारियों से इस्तीफा ले रहे हैं जिनपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं. इसी कड़ी में बुधवार को यूक्रेन के डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर याचेस्लाव शापोवालोव और यूक्रेन प्रेसिडेंशियल ऑफिस के डिप्टी हेड किरिलो तेमोसेंकोवा ने इस्तीफा दे दिया. इन दोनों लोगों का नाम सेना के लिए भोजन की खरीदी से जुड़े भ्रष्टाचार में सामने आया था.

रूस और यूक्रेन के बीच 11 महीने से जंग चल रही है. अभी तक की लड़ाई में न तो यूक्रेन पीछे हटने को तैयार है और नहीं रूस कुछ सुनने को तैयार है. रूस के खिलाफ लड़ाई में यूक्रेन को ब्रिटेन, अमेरिका समेत कई देशों का भरभूर साथ मिला है.अब तक करोड़ों डॉलर की सैन्य सहायता मिल चुकी है. करोड़ों डॉलर की सैन्य सहायता के बीच डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे और अब उन्हें इस्तीफा देना पड़ गया है.

याचेस्लाव शापोवालोव के इस्तीफे पर यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान भी जारी किया है. यूक्रेनी रक्षा मंत्रालय ने इस्तीफे को एक सम्मान जनक कार्य बताया है और कहा है कि डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर का इस्तीफा मंत्रालय में विश्वास को बनाए रखने में मदद करेगा.वहीं, स्थानीय मीडिया ने बताया है कि याचेस्लाव शापोवालोव का नाम सेना के लिए खाने के सामान में खरीद से जुड़े एक घोटाले में सामने आया था जिसमें खाद्य अनुबंधों पर कथित रूप से बढ़ी हुई कीमतों पर हस्ताक्षर किए गए थे.

राष्ट्रपति की ओर से पद छोड़ने के लिए कहा गया
दूसरी ओर से यूक्रेन प्रेसिडेंट ऑफिस के डिप्टी हेड किरिलो तेमोसेंकोवा ने कहा कि राष्ट्रपति की ओर से उन्हें पद छोड़ने के लिए कहा गया था. तेमोसेंकोवा का नाम पिछले साल सितंबर में यूक्रेन के दक्षिणी जापोरिज्जिया क्षेत्र के लिए 7 मिलियन डॉलर से अधिक मूल्य की सहायता खरीदी के गबन में सामने आया था. इस गबन में यूक्रेन के और भी कई अधिकारियों का नाम सामने आया था. इन दो लोगों के इस्तीफे से पहले यूक्रेन के कम्युनिटी और टेरिटरी डेवलमेंट मंत्रालय के दो डिप्टी मिनिस्टरों को भी अपना पद छोड़ना पड़ा है. नेगोडा और इवान लुकेर्या ने फेसबुक पर अपने इस्तीफे की जानकारी दी.

पांच क्षेत्रीय गवर्नरों को भी हटाया
वहीं, प्रॉसिक्यूटर जनरल ऑफिस की ओ से कहा है गया है कि यूक्रेन के डिप्टी प्रोसिक्यूटर जनरल ओलेक्सी सिमोनेंको को भी उनके पद से हटा दिया गया है. सिमोनेंको का नाम स्पेन में छुट्टियां से संबंधित एक घोटाले में आने के बाद चर्चा में आ गए थे. इसके साथ-साथ राष्ट्रपति के आदेश के बाद यूक्रेन के पांच क्षेत्रीय गवर्नरों को भी बर्खास्त कर दिया गया है. जिन क्षेत्रों के गर्वनरों को बर्खास्त किया गया है उसमें निप्रॉपेट्रोस, सुमी, जापोरिज्जिया और खेरसॉन के क्षेत्रों के साथ-साथ राजधानी कीव के आसपास के क्षेत्र के गर्वनर शामिल हैं.

Share:

Next Post

देश में गेहूं की कीमतें रिकॉर्ड ऊंचाई पर, सरकार ने घटाने के लिए बनाया ये बड़ा प्लान

Wed Jan 25 , 2023
नई दिल्ली: देश में हाल के दिनों में गेहूं के दाम में रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखी जा रही है. इसके पीछे वजह है कि पिछले साल गेहूं के उत्पादन में गिरावट आई थी. इसका असर मौजूदा समय में देखा जा रहा है. ज्यादा खपत के कारण गेहूं का स्टॉक कम हो गया है. वहीं, नई फसल […]