बड़ी खबर व्‍यापार

निगेटिव से पॉज़ीटिव में आई देश की अर्थव्यवस्था, 0.4 फीसदी पर पहुंची जीडीपी

पूरे साल में आठ प्रतिशत तक की गिरावट का अनुमान, अप्रैल-जून तिमाही में जीडीपी में 23.9% दर्ज हुई थी गिरावट

नई दिल्ली। कोरोना काल के दौरान प्रभावित हुई देश की अर्थव्यवस्था को लेकर अब अच्छी खबरें मिलने लगी हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अक्‍टूबर-दिसंबर की तिमाही में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की वृद्धि दर 0.4 प्रतिशत रही है। साथ ही यह भी अनुमान लगाया गया है कि वित्‍तवर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में आठ प्रतिशत की गिरावट रहेगी।

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एसएसओ) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक लगातार दो तिमाहियों में नकारात्‍मक रहने के बाद भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था तीसरी तिमाही में सकारात्‍मक हो गई। चालू वित्त वर्ष की दिसंबर में समाप्त तिमाही के दौरान भारत की जीडीपी सकारात्मक होकर 0.4 प्रतिशत पर पहुंच गई है। इससे पहले की दो तिमाहियों के दौरान कोरोना वायरस महामारी के चलते इसमें बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी।

एनएसओ के राष्ट्रीय लेखा के दूसरे अग्रिम अनुमान में 2020-21 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 8 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया गया है। कोरोना वायरस महामारी और उसकी रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था में 24.4 प्रतिशत की गिरावट आई थी। वहीं दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर में जीडीपी में 7.3 प्रतिशत की गिरावट आई थी। इस  साल के जीडीपी के आंकड़ों में जनवरी में कारोबारी गतिविधियों में रिकवरी दर्ज की गई है। सेवा सेक्टर लगातार चौथे महीने ऊपर चढ़ा है। निर्यात और फैक्टरी की गतिविधियों में भी तेजी रही है।

उल्लेखनीय है कि 2019-20 की समान तिमाही में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की वृद्धि दर 3.3 प्रतिशत थी। वहीं,  रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष 2022-23 में देश की अर्थव्यवस्था में 10.5 फीसदी की वृद्धि का अनुमान लगाया है। जबकि, इसी समय के दौरान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का अनुमान  11 पर्सेंट की वृद्धि का है। (एजेंसी, हि.स.)

 

Next Post

मिस्डकॉल देने पर एसबीआई से तुरंत मिलेगा 14 लाख तक का पेंशन लोन

Sat Feb 27 , 2021
नई दिल्ली। पेंशनभोगियों के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) खुशखबरी लेकर आया है। बैंक ने ऐलान किया है कि केंद्र और राज्‍य सरकार के नियमित रूप से पेंशन प्राप्‍त करने वाले पेंशनभोगियों को बेहद किफायती ब्याज दर पर और बहुत ही कम समय में पेंशन लोन मिल सकेगा। इस श्रेणी में रक्षा पेंशनभोगी और […]