बड़ी खबर

गंगा में शवों का मिलना जारी, बीते 24 घंटों में 206 लाशें निकालकर दफनायी

बक्सर/ बलिया/ गाजीपुर। बिहार के बक्सर (Buxar of Bihar) और यूपी के बलिया व गाजीपुर (Ballia and Ghazipur of U.P.) में 24 घंटे में 206 शव गंगा से निकाले गए(206 bodies recovered from Ganga in 24 hours)। सभी शवों को अधिकारियों की मौजूदगी में गंगा किनारे ही गड्ढा कर दफनाया गया। इनमें सबसे अधिक शव गाजीपुर (Ghazipur) में निकाले गए। यहां गंगा से 73 शव निकाले गए। बक्सर(Buxar) में 71 और बलिया (Ballia) में 62 शवों को निकालकर दफनाया गया है। एक साथ इतनी लाशें देखकर लोगों में कोरोना का खौफ और दहशत की स्थिति है। ग्रामीणों का कहना है कि दर्जनों लाशें तो आगे के जिलों में बह गई हैं।
बक्सर (Buxar) के चौसा श्मशान घाट के पास सोमवार को 30-35 लाशें देखी गईं थीं। लेकिन जब जिला प्रशासन की टीम लाशों को नाव से निकलवाने के लिए मंगलवार को पहुंची तो 71 शव निकाले गये। डीएम अमन समीर ने बताया कि सभी शवों का डीएनए सैंपल लिया गया है। शव के तीन-चार दिन पुराने होने के कारण पोस्टमार्टम नहीं कराया जा सका। कोविड जांच के लिए स्वाब भी नहीं लिया जा सका। गंगा तट पर ही शवों को मिट्टी में दफना दिया गया।


डीएम ने अपनी बात को दुहराते हुए कहा कि लाशें बक्सर जिले के आसपास की नहीं हैं। ये सभी लाशें यूपी की ओर से ही बहते हुए चौसा के घाट पर आकर लग गई थीं। मेडिकल टीम ने सभी शव के सैंपल लेकर रख लिए हैं ताकि बाद में कोई दावेदार हो तों उसकी जांच कराई जा सके। डीएम ने गंगा में शवों के जल प्रवाह पर भी अभी रोक लगा दी है।
उधर, बलिया में मंगलवार को बिहार की सीमा पर गंगा में बहकर आईं लाशें देखकर लोगों के होश उड़ गए। सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने 62 शवों को बाहर निकलवाया। इसके बाद जेसीबी मशीन से गड्ढा खुदवाकर उनका अंतिम संस्कार करवाया। एक दिन पहले ही गाजीपुर व बक्सर (बिहार) के घाटों पर बड़ी संख्या में शव मिले थे, लिहाजा अनुमान लगाया जा रहा है कि बलिया जिले में भी शव बहकर आए होंगे। भरौली में 45, उजियार में नौ तथा गोविंदपुर में आठ शव मिलने की बात कही जा रही है। बलिया के जिलाधिकारी अदिति सिंह ने कहा कि सभी शवों का उचित तरीके से गंगा नदी के तट पर ही पुलिस व प्रशासन की उपस्थिति में अंतिम संस्कार कर दिया गया। शवों के आने के स्रोत की जांच की जा रही है।

Next Post

अक्षय तृतीया पर बन रहा है रोहिणी नक्षत्र का योग

Wed May 12 , 2021
उज्जैन । इस साल अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) की तिथि 14 मई शुक्रवार के दिन है। इसी दिन रोहिणी नक्षत्र (Rohini nakshatra) भी है। इसके अलावा इस बार अक्षय तृतीया पर लक्ष्मीनारायण और गजकेसरी योग (Lakshminarayan and Gajakesari Yoga) भी है। माना जाता है कि इस तिथि से ही सतयुग और त्रेतायुग की शुरुआत हुई […]