उज्‍जैन मध्‍यप्रदेश

उज्जैन में कोरोना के केस बढऩे के बावजूद लॉकडाऊन नहीं

उज्जैन। प्रदेश के जिन शहरों में कोरोना फैल रहा है और प्रतिदिन मरीज मिल रहे हैं वहाँ अधिकांश स्थानों पर हर रविवार को लॉकडाऊन रखा गया है इसमें आवश्यक सेवाओं को छूट दी जा रही है लेकिन दूसरी ओर कल शाम को कलेक्टर द्वारा आदेश जारी बताया गया कि उज्जैन जिले में लॉकडाऊन नहीं रहेगा तथा केवल मास्क पहनना अनिवार्य होगा, जबकि उज्जैन शहर के लोगों ने आज रविवार को पूर्णत: लॉकडाऊन रखने का मन बना लिया था।
उज्जैन में एक बार फिर कोरोना के केस नये क्षेत्रों से आ रहे हैं। जैसे-जैसे बाजारों में आर्थिक गतिविधियां बढ़ाई जा रही है, वैसे-वैसे कोरोना के केस फिर से बढऩे लगे हैं। कल रात उज्जैन के अलावा बडऩगर, घट्टिया और महिदपुर तहसीलों में भी नए मरीज पाए गए। तीन दिनों में 15 नए केस आज आने के बावजूद जिला प्रशासन ने आज उज्जैन जिले में लॉकडाऊन घोषित नहीं किया है। इसके विपरित उज्जैन, भोपाल, ग्वालियर सहित कई जिले जहां एक्टिव केस 50 से ज्यादा है, उन स्थानों पर आज जरुरी सेवाओं को छोडक़र एक दिन का संपूर्ण लॉकडाउन रखा गया है। हालांकि कल शाम तक इसका निर्णय नहीं हो पाया था और आपदा प्रबंधन समिति की बैठक भी नहीं हुई। इसके बाद कलेक्टर आशीष सिंह ने आदेश जारी किए कि आज रविवार को जिले में लॉकडाउन नहीं रहेगा, परंतु आज से पूरे जिले में मास्क नहीं पहनने और सोशल डिस्टैंसिंग नहीं मानने वाले लोगों पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी और मास्क अगर नाक के नीचे पाया गया तो भी 500 रूपये का स्पॉट फाईन वसूला जाएगा। कलेक्टर चाहते तो आज बढ़ते केस को देखते हुए लॉकडाउन घोषित कर सकते थे। उज्जैन अभी भी अधिकृत तौर पर रेड झोन से बाहर नहीं आया है। रविवार को वैसे भी सरकारी, गैर सरकारी सभी दफ्तर बंद रहते है और बाजारों में भी दुकानें बंद रहती है। अगर लॉकडाउन घोषित हो जाता तो इसका फायदा मिलता। इधर लोगों ने रविवार को लॉकडाउन की पूरी संभावनाओं को देखते हुए तैयारियां पहले से कर ली थी।
एक्टिव केस 29 हुए, 71 की मौत
डॉ. महावीर खण्डेलवाल के मुताबिक इसके बाद एक्टिव केस बढक़र 29 हो गए है। इनमें से 12 मरीज लक्षण वाले है, जबकि 17 में पॉजिटिव होने के बाद भी लक्षण नहीं है। कल रात कुल 796 नमूनों की रिपोर्ट आई, जिसमें 7 पॉजिटिव केस निकले। अभी तक 29 हजार 304 सेंपल की जांच रिपोर्ट आ चुकी है और कुल पॉजिटिव के 887 हो चुके है। हालांकि इसमें से कल दो और मरीजों की छुट्टी होने के बाद ठीक होकर घर गए मरीजों की संख्या 787 हो चुकी है। इसके अतिरिक्त अभी तक 71 मरीजों की जांच भी जा चुकी है।
छत्रीचौक सराय पर सुबह डराने वाले नजारे
कोरोना संक्रमण पर स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और प्रशासन लगातार लगाम लगाने का प्रयास किया। अभी भी संघर्ष चल रहा है। कलेक्टर विशेष तौर पर पूरे मामले पर नजर रख रहे है। सोशल डिस्टेंस और मास्क नहीं पहनने वालों पर कार्रवाई के लिए 5 टीमें लगातार वाहनों के जरिए घूम रही है और रोज जुर्माना वसूल रही है। इसी बीच छत्री चौक सराय में सुबह 7 बजे से लेकर 9 बजे तक मजदूरों की भीड़ के नजारे डराने वाले है। यहां सैकड़ों मजदूर सुबह काम की तलाश में इकठ्ठे होते हैं। इनमें से लगभग 80 फीसदी से ज्यादा लोग न तो सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते है और न ही मास्क पहने नजर आते है। ऐसे में जिला प्रशासन को अन्य स्थानों पर सख्ती बरतने के साथ-साथ यहां सुबह के समय कुछ दिन एक टीम जरुर तैनात करनी चाहिए। अन्यथा किसी रोज यही से कोरोना का विस्फोट हो जाएगा।
तीन दिन में 15 नए मामले
गुजरा हफ्ता कोरोना के नए केस के मामले में राहत भरा रहा था। उस दौरान 9 दिनों में कुल 13 केस पॉजिटिव आए थे। वहीं एक्टिव केस की संख्या घटकर 15 रह गई थी। लेकिन पिछले 3 दिनों से कोरोना के नए मरीज शहर सहित जिले में बढऩे लगे है। गुरुवार तथा शुक्रवार को 4-4 पॉजिटिव केस आए थे। वहीं बीती रात जारी स्वास्थ्य बुलेटिन ने कोरोना के 7 नए मामले आए है। इनमें 4 केस उज्जैन के रहे, जबकि 3 मामले बडऩगर, घट्टिया और महिदपुर तहसीलों के निकलें। उज्जैन में तालोद निवासी 42 वर्षीय पुरूष, दुर्गानगर निवासी 60 वर्षीय वृद्ध, मणीनगर इंदौर रोड निवासी 52 वर्षीय महिला, संतनगर निवासी 60 वर्षीय महिला पॉजिटिव पाए गए। इनके अलावा थाना महिदपुर क्षेत्र में 52 वर्षीय पुरूष, टोरंटो टॉकिज बडऩगर निवासी 26 वर्षीय युवक, घट्टिया निवासी 27 वर्षीय युवक भी पॉजिटिव निकले। कुल मिलाकर अब एक बार फिर कोरोना के मरीजों का ग्राफ बढऩे लगा है। पिछले 3 दिनों में उज्जैन जिले में 15 नए पॉजिटिव केस आ गए है।

Next Post

आठ साल पहले 2200 थे, लोन योजना के बाद 18 हजार हो गए

Sun Jul 12 , 2020
उज्जैन। नगर निगम की सीमा में फेरी लगाकर तथा ठेले पर सामान बेचने वालों की संख्या साल 2012 में 2200 थी, लेकिन 10 हजार के लोन की योजना शुरु होने के बाद अब यह बढक़र 18 हजार हो गई है। 10 हजार लोग लोन के लिए पोर्टल पर आवेदन कर चुके है। इनमें से साढ़े […]