बड़ी खबर

मुन्ना भाई से लेकर आंसर शीट बदलने तक का था जुगाड़, नीट पेपर लीक मामले में बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में नीट पेपर लीक मामले की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक जैसे ही परीक्षा की तारीख सामने आई थी, वैसे ही आरोपियों ने छात्रों को लुभाने के लिए व्हाट्स एप ग्रुप बनाया था. जांच में ये भी पता चला है कि किसी भी परीक्षा की तारीख आते ही उसकी पढ़ाई कर रहे छात्रों का व्हाट्स एप ग्रुप बनाकर आरोपी उन्हें वो एग्जाम पास करवाने का आश्वासन देते थे.


जानकारी के मुताबिक, आरोपियों ने बताया कि वे चार तरह से छात्रों की मदद करने का आश्वासन उन्हें देते थे. पहला रास्ता था पेपर लीक करके. दूसरा रास्ता था पेपर में डमी परीक्षार्थी बैठाकर. तीसरा रास्ता था परीक्षा का सेंटर उनके हिसाब से दिलवाना और चौथा रास्ता था परीक्षा के बाद दोबारा से उस विद्यार्थी की आंसर शीट लेकर सही जवाब लिखकर फिर से जमा करवाना.

सूत्रों ने बताया कि छात्रों को चारों तरीकों में से जो तरीका पसंद होता है, उसके हिसाब से आरोपी पैसों की मांग करते थे. पुलिस को मिले व्हाट्सएप चैट से पता चला है कि आरोपियों ने कई छात्रों से लाखों रुपये लिए हैं. चैट्स में ये भी दिखाई दिया है कि आरोपियों ने दूसरे राज्य के छात्रों से भी पैसे लिए हैं. नीट पेपर लीक मामले में महाराष्ट्र में पहली गिरफ्तारी करते हुए लातूर पुलिस ने जलील खान पठान को गिरफ्तार किया.

Share:

Next Post

18वीं लोकसभा के लिए संसद सदस्य के रूप में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबसे पहले शपथ ली

Mon Jun 24 , 2024
नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 18वीं लोकसभा के लिए (For the 18th Lok Sabha) संसद सदस्य के रूप में (As a Member of Parliament) सबसे पहले शपथ ली (First took Oath) । सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही प्रारंभ होने पर प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब ने उन्हें 18वीं लोकसभा के […]