बड़ी खबर व्‍यापार

अरबपतियों की संख्या के मामले में कई देशों से आगे निकला भारत, गौतम अडाणी की संपत्ति में इजाफा

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के संकट काल में जहां एक ओर भारत में अरबपतियों की संख्या में इजाफा हुआ है, वहीं दूसरी ओर गरीबी भी तेजी से बढ़ती जा रही है। ऑक्सफैम इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में पिछले साल गरीबों की संख्या दोगुनी हो गई है, जबकि देश में 40 नए अरबपति बने हैं। इस बीच भारत अरबपतियों की संख्या के मामले में दुनिया के कई देशों से आगे निकल चुका है। देश के अरबपतियों में गौतम अडाणी की संपत्ति में पिछले साल जोरदार इजाफा दर्ज किया गया।

दुनिया के कई देशों से आगे निकला भारत
बिलियनेयर्स इंडेक्स पर अगर नजर डालें तो दुनिया के 500 सबसे ज्यादा अमीर लोगों ने पिछले साल अपनी नेट वर्थ में 1 ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा की बढ़ोतरी दर्ज की है। ऑक्सफैम ने कहा कि भारत, जहां शहरी बेरोजगारी पिछले मई में 15 फीसदी तक बढ़ गई थी और खाद्य असुरक्षा खराब हो गई थी, अब फ्रांस, स्वीडन और स्विटजरलैंड की तुलना में अधिक अरबपति वाला देश बन चुका है।

अरबपतियों की संपत्ति में दोगुना इजाफा
रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना महामारी से दुनिया परेशान है और अब ओमिक्रॉन वैरिएंट ने फिर से चिंता के बादल खड़े कर दिए हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि कोरोना काल में एक ओर जहां गरीबों के सामने खाने का संकट पैदा हो गया है, लेकिन वहीं अमीर लोगों की संपत्ति में जोरदार इजाफा हुआ है। कोरोना काल में भारतीय अरबपतियों की कुल संपत्ति दोगुनी हो गई।

अमीरों की संख्या में 39% की तेजी
ऑक्सफैम के मुताबिक, देश में अरबपतियों की संख्या में 39 फीसदी की दर से तेजी आई है और 40 नए अरबपति बने। इस बढ़ोतरी के साथ वर्तमान में देश के अरबपतियों की कुल संख्या 142 हो गई है। ऑक्सफैम ने सोमवार को प्रकाशित बढ़ती असमानता पर एक रिपोर्ट में कहा कि देश के अरबपतियों के पास संयुक्त संपत्ति लगभग 720 अरब डॉलर (करीब 53 लाख करोड़ रुपये) है, जो कि देश की सबसे गरीब 40 फीसदी आबादी से अधिक है।

गौतम अडाणी की संपत्ति में जोरदार इजाफा
एक रिपोर्ट के अनुसार, अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी की संपत्ति में पिछले साल सबसे ज्यादा उछाल देखने को मिला है। अडाणी के पास पिछले साल भारत में सबसे ज्यादा संपत्ति थी और वैश्विक स्तर पर उन्होंने अपनी संपत्ति में दुनिया में पांचवीं सबसे बड़ी वृद्धि दर्ज की थी। गौतम अडाणी की संपत्ति में 42.7 अरब डॉलर जुड़े, इसके साथ ही उनकी संपत्ति अब 90 अरब डॉलर है। 2021 में मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति 13.3 बिलियन डॉलर चढ़ गई और अब उनका मूल्य 97 बिलियन डॉलर हो गया है।

रईस कर सकते हैं स्कूल-कॉलेज को फंड
ऑक्सफैम ने अपनी हालिया जारी रिपोर्ट में यह सिफारिश की है कि केंद्र सरकार को स्वास्थ्य और शिक्षा में निवेश करने के लिए देश की सबसे अमीर 10 प्रतिशत आबादी पर 1 फीसदी सरचार्ज लगाना चाहिए। रिपोर्ट में विशेषज्ञों ने कहा है कि देश के टॉप-10 रईसों के पास इतनी दौलत मौजूद है कि वे देश के सभी स्कूलों और कॉलेजों को अगले 25 सालों तक फंड कर सकते हैं।

Share:

Next Post

शहर में 10313 कोरोना मरीजों में से मात्र 98 अस्पतालों में हैं भर्ती

Mon Jan 17 , 2022
17 फीसदी तक पॉजिटिविटी रेट पहुंचने के बावजूद फिलहाल राहत… प्रशासन सतर्क, मगर दूसरी लहर जैसी चिंता नहीं… भरपूर हैं इंतजाम इंदौर। कल जारी मेडिकल बुलेटिन में 11 हजार 90 सैम्पलों की जांच में 1890 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज उजागर किए गए, जिसके चलते इंदौर जिले में फिलहाल 10313 उपचाररत मरीजों की संख्या हो गई […]