खेल

IPL 2024, CSK: पांच बार की चैम्पियन टीम आखिरकार प्लेऑफ में क्‍यों नहीं पहुंच पाई? जानें ये 5 वजह

नई दिल्‍ली (New Delhi)। पांच बार की चैम्पियन टीम(champion team) चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2024 के प्लेऑफ(playoff) में नहीं पहुंच पाई। अपने आखिरी लीग मुकाबले (league matches)में सीएसके को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) ने 27 रनों से हरा दिया। आरसीबी और सीएसके दोनों के ही 14-14 अंक रहे, लेकिन बेहतर नेट-रनरेट के चलते फाफ डु प्लेसिस की अगुवाई वाली आरसीबी प्लेऑफ में पहुंचने में कामयाब रही।

महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल 2024 की शुरुआत से पहले सीएसके की कप्तानी छोड़ दी थी। ऐसे में ऋतुराज गायकवाड़ ने कप्तानी की जिम्मेदारी संभाली। ऋतुराज ने बल्ले से तो शानदार प्रदर्शन किया और 14 मैचों में 583 रन बनाए। लेकिन वो बतौर कप्तान टीम की नैया पार नहीं लगा सके। ऐसे में सीएसके का छठी बार खिताब जीतने का सपना इस सीजन में पूरा नहीं हो पाया। सीएसके के प्लेऑफ में ना पहुचने की कुछ बड़ी वजह रहीं।।।


तेज गेंदबाजों की इंजरी और खिलाड़ियों की अनुपलब्धता

इस पूरे सीजन चेन्नई सुपर किंग्स अपने फ्रंटलाइन तेज गेंदबाजों की इंजरी और कुछ खिलाड़ियों की अनुपलब्धता से परेशान रही। मथीशा पथिराना हैमस्ट्रिंग इंजरी से जूझते दिखे और वह सिर्फ 6 मैच खेल सके। इंजर्ड होने के चलते वह बीच सीजन में ही श्रीलंका लौट गए। बांग्लादेशी तेज गेंदबाज मु्स्ताफिजुर रहमान जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज के चलते 1 मई को हुए मैच के बाद स्वदेश लौट गए। तेज गेंदबाज दीपक चाहर इस सीजन में भी इंजरी से जूझते दिखे और आठ मैच ही खेल सके। ऐसे में सीएसके की फास्ट बॉलिंग यूनिट काफी कमजोर हो गई। मोईन अली भी इंग्लैंड-पाकिस्तान सीरीज के चलते आखिरी मैच के लिए अनुपलब्ध थे।

धोनी का निचले क्रम पर बैटिंग के लिए आना

कप्तानी छोड़ने के बावजूद एमएस धोनी का जलवा बरकरार रहा और उन्होंने इस सीजन में जबरदस्त बैटिंग की। 42 साल के धोनी ने 11 पारियों में 220।54 के तूफानी स्ट्राइक रेट से 161 रन बनाए। हालांकि बेहतरीन फॉर्म में होने के बावजूद धोनी ज्यादातर मैचों में निचले क्रम पर बैटिंग करने के लिए उतरे। धर्मशाला में हुए मुकाबले में तो वह शार्दुल ठाकुर से भी नीचे बैटिंग करने आए थे। धोनी यदि मौजूदा सीजन में थोड़ा ऊपर बैटिंग करते तो सीएसके की किस्मत पलट सकती थी। धोनी पिछले कुछ समय से घुटने की समस्या से जूझ रहे हैं, शायद इसी चलते धोनी ने युवा खिलाड़ियों को अपने से पहले बैटिंग करने का मौका दिया।

शिवम दुबे का फॉर्म दूसरे हाफ में गड़बड़ाया

मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज शिवम दुबे का फॉर्म ऐन मौके पर गड़बड़ा गया। आईपीएल 2024 में शुरुआती 9 मैचों में शिवम दुबे ने 350 रन बना डाले थे और उनका एवरेज 58।33 का था। मगर अगले 5 मुकाबलों में शिवम के बल्ले से महज 46 रन आए। इस दौरान वो दो बार डक पर भी आउट हुए। आरसीबी के खिलाफ मुकाबले में शिवम पूरी तरह आउट ऑफ फॉर्म नजर आए और 15 गेंदों का सामना करके सिर्फ 7 रन बनाए।

अनुभवी रहाणे का बल्ले से फ्लॉप शॉ

अनुभवी बल्लेबाज अज‍िंक्य रहाणे फॉर्म इस सीजन में एकदम फ्लॉप रहे। शुरुआती मैचों में रहाणे को मध्यक्रम में मौका दिया गया, इसके बाद उनको ओपन‍िंग में भी ट्राय किया गया। पर रहाणे छाप नहीं छोड़ सके। रहाणे ने आईपीएल 2024 में 13 मुकाबले खेले, लेकिन वह 242 रन ही बना सके। इस दौरान रहाणे का एवरेज 20।16 और स्ट्राइक रेट 123।46 रहा। इसकी तुलना अगर रहाणे के पिछले साल के आंकड़ों से करें तो यह साफ हो जाएगा कि वह इस बार अपनी पुरानी फॉर्म को भूल चुके थे। रहाणे ने पिछले साल 14 मैच खेलकर 326 रन बनाए थे। इस दौरान उनका एवरेज 32।60 और 172।49 का था।

रवींद्र-मिचेल का निराशाजनक खेल

न्यूजीलैंड के इंटरनेशनल खिलाड़ियों रचिन रवींद्र और डेरिल मिचेल ने आईपीएल 2024 में बल्ले से निराशाजनक प्रदर्शन किया। रवींद्र ने 10 मैचों में 22।20 के एवरेज से 222 रन बनाए। रचिन सिर्फ एक मैच में 50 रनों का आंकड़ा पार कर सके। डेरिल मिचेल ने 13 मैचों में 28।90 की औसत से 318 रन बनाए, जिसमें 2 अर्धशतक शामिल रहे।

Share:

Next Post

चुनाव के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने स्टॉक मार्केट के लिए दिए अहम संकेत

Mon May 20 , 2024
नई दिल्‍ली (New Delhi)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (Prime Minister Narendra Modi) ने शेयर मार्केट को लेकर बड़े संकेत दे दिए हैं। हाल ही में दिए एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा कि नतीजों के बाद स्टॉक मार्केट (stock market) में तेजी से बढ़त देखी जाएगी। इससे पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी नतीजों के बाद […]