बड़ी खबर

स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज को कुवैत यात्रा की अनुमति नहीं दिये जाने पर केरल के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा पत्र


तिरुवनंतपुरम । केरल के मुख्यमंत्री (Kerala Chief Minister) ने स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज को कुवैत यात्रा की अनुमति नहीं दिये जाने पर (On Health Minister Veena George not being allowed to visit Kuwait) प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा (Wrote Letter to Prime Minister Modi) ।


मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज की कुवैत यात्रा पर विदेश मंत्रालय की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दिये जाने का मामला उठाया है। मंत्री को अग्निकांड के पीड़ितों के लिए जारी राहत कार्यों के समन्वय के लिए कुवैत जाना था। कुवैत में एक इमारत में आग लगने से 45 भारतीयों की मौत हो गई थी। केरल के कम से कम 24 लोगों ने उस हादसे में अपनी जान गंवा दी थी। राज्य सरकार ने समन्वय के लिए वीणा जॉर्ज को कुवैत भेजने का फैसला किया था।

सीएम विजयन ने अपने पत्र में लिखा है, “मौजूदा अनुरोध अनिवार्य परिस्थितियों के तहत आता है और इस पर विचार न किया जाना सहकारी संघवाद के सिद्धांत के खिलाफ है जिसमें विकास, तथा जब हमारे लोग आपदाओं के शिकार हों तो उनके कष्ट कम करने के प्रयास में संघ और राज्य बराबर के साझीदार हैं। आप खुद भी स्वीकार करेंगे कि इन परिस्थितियों में मंजूरियों को राजनीतिक या किसी अन्य चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। ऐसा लगना भी नहीं चाहिए कि कोई फैसला लेते समय पक्षपात किया गया है।”

सीएम विजयन ने लिखा, “मैं प्रधानमंत्री से अनुरोध करता हूं कि वह विदेश मंत्रालय को भविष्य में इन अनुरोधों को लेकर ज्यादा तेजी से प्रतिक्रिया देने की सलाह दें, क्योंकि स्वस्थ सहकारी संघवाद का वातावरण तैयार करने के लिए संघ और राज्यों के बीच अच्छा संबंध महत्वपूर्ण कारक है।” वीणा जॉर्ज को पूरा विश्वास था कि उन्हें कुवैत जाने की मंजूरी मिल जाएगी। वह 13 जून की रात फ्लाइट पकड़ने के लिए एयरपोर्ट पहुंच गई थीं, लेकिन पता चला कि केंद्र से मंजूरी नहीं मिली है।

Share:

Next Post

मध्य प्रदेश में सिकल सेल मरीजों की खोज और निदान के लिए घर-घर सर्वे कराया जाएगा - मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव

Wed Jun 19 , 2024
भोपाल । मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव (Chief Minister Dr. Mohan Yadav) ने कहा है कि मध्य प्रदेश में (In Madhya Pradesh) सिकल सेल मरीजों की खोज और निदान के लिए (For detection and diagnosis of Sickle Cell Patients) घर-घर सर्वे कराया जाएगा (Door-to-door Survey will be Conducted) । विश्व सिकल सेल दिवस पर उन्होंने यह […]