विदेश

वुहान लैब से रिसाव ही कोरोना की उत्पत्ति की संभावित वजह, कनाडा की जीवविज्ञानी ने किया खुलासा

डेस्क। कनाडा के आणविक जीवविज्ञानी ने दावा किया है कि वुहान लैब से लीक ही कोरोना की उत्पत्ति का मुख्य कारण है। कनाडा की एक आणविक जीवविज्ञानी ने बुधवार को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी से संबंधित हाउस ऑफ कॉमन्स समिति में शामिल विभिन्न दलों के सांसदों से कहा कि चीन के वुहान क्षेत्र की एक प्रयोगशाला से रिसाव ही कोविड-19 वैश्विक महामारी की उत्पत्ति की ‘अत्यधिक संभावित’ कारण है।

जीन थेरेपी और सेल इंजीनियरिंग की एक्सपर्ट और ‘वायरल: द सर्च फॉर द ओरिजिन ऑफ कोविड-19’ की लेखिका डॉ अलीना चान ने वैज्ञानिक अनुसंधान पर संसद की समिति के सामने 15 दिसंबर को बताया कि कोरोना वायरस की ‘फ्यूरिन क्लीवेज साइट’ नामक असामान्य विशेषता के कारण महामारी हुई थी औप वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में पाया गया था।


प्राकृतिक उत्पत्ति की तुलना में प्रयोगशाला की उत्पत्ति अधिक
महामारी की उत्पत्ति के रूप में एक प्रयोगशाला रिसाव की संभावना के बारे में पैनल द्वारा पूछे जाने पर, चान ने बताया कि “इस बिंदु पर प्राकृतिक उत्पत्ति की तुलना में प्रयोगशाला की उत्पत्ति अधिक होने की संभावना है। उन्होंने आगे कहा कि हम सभी सहमत हैं कि हुआनन सीफ़ूड मार्केट में एक महत्वपूर्ण घटना हुई थी, जो मनुष्यों के कारण होने वाली एक सुपर स्प्रेडर घटना थी। उस बाजार में वायरस के प्राकृतिक पशु मूल की ओर इशारा करने वाला कोई सबूत नहीं है।

समय बताएगा कि कोरोना की उत्पत्ति कहां हुई-चान
पैनल द्वारा यह भी उनसे सवाल किया गया कि दुनिया अंततः COVID-19 की वास्तविक उत्पत्ति को स्थापित करने में सक्षम होगी, चैन ने कहा कि यह तो आने वाला समय ही तय करेगा।

Share:

Next Post

भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति बोले- महामारी से स्थायी रूप से उबरने की शुरुआत टीकों से होनी चाहिए

Thu Dec 16 , 2021
संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने पीबीसी-ईसीओएसओसी (PBC-ECOSOC) की संयुक्त बैठक में कहा, “अगर हमें महामारी से स्थायी रूप से उबरने की आवश्यकता है, तो इसकी शुरुआत टीकों से होनी चाहिए।” टीएस तिरुमूर्ति  ‘कोविड-19 महामारी से उबरने के संदर्भ में स्थायी शांति और सतत विकास को बढ़ावा देना’ विषय […]