देश मनोरंजन

‘गोलियों की आवाज सुनकर टूटी थी मेरी नींद’, फायरिंग केस में सलमान खान ने दर्ज कराया बयान

नई दिल्ली. सलमान खान (Salman Khan) के घर के बाहर हुई फायरिंग के मामले (firing case) में बड़ा अपडेट सामने आया है. सलमान खान और उनके भाई अरबाज खान (arbaaz khan) ने मामले में अपने बयान (statement) मुंबई पुलिस (mumbai police) के सामने दर्ज करवाए हैं. 14 अप्रैल को सलमान के घर गैलेक्सी अपार्टमेंट के बाद बाइक सवार लड़कों ने गण फायरिंग की थी. इसके बाद वो दोनों फरार हो गए थे. बंदूक की एक गोली सलमान के अपार्टमेंट के अंदर तक जा पहुंची थी. मुंबई पुलिस लगातार इस मामले की जांच में लगी हुई है.


इस मामले में दोनों बाइक सवारों को मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच से गिरफ्तार कर लिया था. उन्हें हथियार मुहैया कराने वाले शख्स को भी पुलिस ने पकड़ा था. इस फायरिंग का कनेक्शन गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से बताया गया था. अब सलमान खान ने फायरिंग के दिन क्या-क्या हुआ. वो उस दिन और उस वक्त क्या कर रहे थे, सबकुछ अपने बयान में बताया है.

सलमान खान ने दिया बयान

4 जून को दोपहर करीब 12 बजे के करीब क्राइम ब्रांच के चार अधिकारी सलमान खान का बयान दर्ज करने उनके घर पहुंचे थे. सलमान खान का बयान दर्ज करने में करीब तीन से चार घंटे का वक्त उन्हें लगा. वहीं अरबाज खान का बयान दर्ज करने में दो घंटे लगे. क्राइम ब्रांच की टीम शाम 5.30 बजे के बाद सलमान के घर से बयान दर्ज कर निकली थी.

अरबाज खान का बयान 4 पन्ने में दर्ज किया गया, जबकि सलमान खान का बयान 9 पन्नों में दर्ज किया गया. जानकारी के अनुसार, सलमान ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि घटना वाली रात उनके घर पर पार्टी थी, जिसके कारण उन्हें देर से नींद आई और सुबह गोलियों की आवाज सुनकर उनकी नींद खुली.

सलमान खान फायरिंग मामले में अब तक मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच कुल 29 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है. घटना के समय सलमान खान के पिता सलीम खान घर पर मौजूद थे. हालांकि उनकी उम्र ज्यादा होने के कारण उनका बयान दर्ज नहीं किया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जरूरत पड़ने पर सलीम खान का बयान दर्ज किया जाएगा. पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि मुख्य आरोपी लॉरेंस बिश्नोई को साबरमती जेल से हिरासत में लेने की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी.

क्या है पूरा मामला?

14 अप्रैल को सुबह 4 बजकर 52 मिनट पर सलमान खान के घर गैलेक्सी अपार्टमेंट पर दो बाइकसवार शूटरों ने 5 राउंड फायरिंग की थी. इसमें से एक गोली सलमान के घर की दीवार पर लगी थी, जबकि एक गोली वहां लगे नेट को चीरती हुई सलमान के घर के अंदर ड्राइंग रूम की दीवार पर जा कर लगी थी. इसके बाद आरोपी एक चर्च के पास अपनी बाइक छोड़कर फरार हो गए थे.

पुलिस ने इन दोनों शूटर्स विक्की गुप्ता (24 साल) और सागर पाल (21 साल) को भुज, गुजरात से गिरफ्तार किया था. इस मामले में कुछ वक्त पहले एक बड़ा ट्विस्ट आया था. पंजाब से गिरफ्तार किए गए अनुज थापन ने कथित रूप से पुलिस कस्टडी में आत्महत्या कर ली थी. जानकारी के मुताबिक, अनुज लॉरेंस बिश्नोई गैंग के संपर्क में था. वो ट्रक हेल्पर के तौर पर काम करता है. मुंबई की क्राइम ब्रांच ने सूरत की तापी नदी से एक पिस्टल और कुछ जिंदा कारतूस बरामद किए थे.

सलमान के खिलाफ कोर्ट में दर्ज हुआ मामला

ब्रांच का दावा है कि ये वही हथियार थे, जिसका इस्तेमाल 14 अप्रैल को सलमान खान के घर पर हुई फायरिंग के लिए किया गया. पुलिस के मुताबिक, इन हथियारों की सप्लाई अनुज और सुभाष ने की थी. अनुज और सुभाष ने ही 15 मार्च के दिन फायर करने वाले आरोपियों विक्की और सागर को दो देशी पिस्तौल और कारतूस मुहैया कराई थी.

4 मई 2024 को मृतक अनुज थापन के परिवार की तरफ से मुंबई हाई कोर्ट में एक रिट फाइल की गई थी. इसमें मृतक अनुज थापन के परिवार ने हाई कोर्ट से सलमान खान के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. इतना ही नहीं, इस मामले की सीबीआई जांच की मांग भी मृतक के परिवार ने की है. थापन के परिवार और वकीलों का आरोप है कि यह आत्महत्या नहीं है, बल्कि अनुज की मौत के पीछे साजिश हुई है, जिसकी जांच सीबीआई करे.

Share:

Next Post

रूस से नाराज हुआ आर्मेनिया, पुतिन को सहयोगी देश से लगा बड़ा झटका

Thu Jun 13 , 2024
येरेवान: आर्मेनिया (Armenia) रूस (Russia) के नेतृत्व वाले सुरक्षा गुट सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन (CSTO) को छोड़ देगा। प्रधानमंत्री निरोक पाशिनियन (Prime Minister Nirok Pashinyan) ने बुधवार को पहली बार इसकी पुष्टि की है। उन्होंने CSTO के सदस्यों पर अजरबैजान (Azerbaijan) के साथ मिलकर आर्मेनिया के खिलाफ युद्ध की योजना बनाने का आरोप लगाया। पाशिनियन […]