बड़ी खबर भोपाल मध्‍यप्रदेश

राष्ट्रपति 28-29 मई को रहेंगे मध्यप्रदेश में, PM मोदी 31 मई को वर्चुअली करेंगे हितग्राहियों से संवाद

– मुख्यमंत्री ने की तैयारियों की समीक्षा

भोपाल। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) 28 और 29 मई को मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के प्रवास पर रहेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने सोमवार को मंत्रालय में बैठक कर राष्ट्रपति के प्रवास से संबंधित तैयारियों की समीक्षा की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह राष्ट्रपति की यात्रा से जुड़ी सभी तैयारियों को पूर्ण किया जाए। राष्ट्रपति की गरिमा के अनुकूल कार्यक्रमों के स्वरूप को अंतिम रूप प्रदान करें।

बैठक में बताया गया कि राष्ट्रपति का 28 मई को भोपाल आगमन प्रस्तावित है। वे राजधानी में एक कार्यक्रम में नवीन स्वास्थ्य संस्थाओं का भूमि-पूजन करेंगे। इसके बाद राष्ट्रपति 29 मई की सुबह भोपाल से उज्जैन जाएंगे, जहां वे कालिदास अकादमी में अखिल भारतीय आयुर्वेद सम्मेलन के प्रतिभागियों को संबोधित करेंगे। साथ ही महाकाल मंदिर में दर्शन भी करेंगे। राष्ट्रपति दोपहर बाद इंदौर जाएंगे और वहां से वायुयान द्वारा नई दिल्ली रवाना होंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने उज्जैन में आयुर्वेद सम्मेलन के लिए निर्धारित कार्यक्रम स्थल, अतिथियों और आमंत्रित प्रतिनिधियों के लिए बैठक व्यवस्था, पेयजल और यातायात सहित अन्य प्रबंधों की जानकारी प्राप्त की। इस मौके पर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्म्द सुलेमान, पुलिस महानिदेशक सुधीर कुमार सक्सेना और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 मई को हितलाभ वितरण कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होकर मध्यप्रदेश के हितग्राहियों से संवाद करेंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में बैठक कर इस कार्यक्रम की तैयारियों की भी समीक्षा की। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 31 मई को पूर्वान्ह 11 बजे शिमला में हो रहे कार्यक्रम से मध्यप्रदेश के हितग्राहियों से जुड़ेंगे और संवाद करेंगे। प्रधानमंत्री द्वारा किसान सम्मान निधि की राशि का वितरण हितग्राहियों को किया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान भी हितग्राहियों को संबोधित करेंगे।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जिन हितग्राहियों से संवाद करेंगे, उनके चयन के कार्य को अंतिम रूप दिया जाए। विभिन्न योजनाओं से हितग्राहियों को प्राप्त लाभ का विवरण भी संकलित किया जाए। कार्यक्रम से आमजन को जोड़ने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जाये। कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा को शीघ्र ही अंतिम रूप दिया जाए। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

अमेरिका में भारतीय प्रतिभाओं की जरूरत

Tue May 24 , 2022
– प्रमोद भार्गव अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल में संरक्षणवादी नीतियों को इसलिए अमल में लाया गया तीकि उसका लाभ स्थानीय अमेरिकी नागरिकों को मिले। किंतु चार साल में इन नीतियों ने जता दिया कि विदेशी प्रतिभाओं के बिना अमेरिका का काम चलने वाला नहीं है। इसमें भी अमेरिका को चीन और […]