व्‍यापार

कोरोना की दूसरी लहर से GDP को भारी नुकसान, उबरने में लगेंगे कई साल

नई दिल्ली। देश में चल रही कोरोना महामारी (Covid-19 pandemic) की दूसरी लहर (Second Wave) से इकॉनमी (economy) को शुरुआती अनुमानों से कहीं ज्यादा भारी नुकसान (huge loss) हो सकता है और इसकी भरपाई में कई साल लग सकते हैं। इसकी बड़ी वजह यह है कि राज्यों ने संक्रमण को रोकने के लिए सख्त लॉकडाउन (Lockdown) लगाया है। साथ ही वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार(Slow vaccination) और विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील में समानता नहीं होने से इकनॉमिक रिकवरी (Economic recovery) की राह मुश्किल हो सकती है।
बार्कलेज (Barclays) की मंगलवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक देश में कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप अब कम होने लगा है लेकिन इसका आर्थिक नुकसान अनुमान से कहीं अधिक लग रहा है। ब्रोकरेज फर्म का कहना है कि इससे नॉमिनल टर्म्स में इकॉनमी को 74 अरब डॉलर यानी 5.4 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है जो जीडीपी(GDP) का 2.4 फीसदी है। फर्म ने पहले इसके 38 अरब डॉलर रहने का अनुमान जताया था। देश में कोरोना की दूसरी लहर की आर्थिक कीमत तेजी से बढ़ रही है।


जेएम फाइनेंशियल (JM Financial) ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा कि देश की करीब 90 फीसदी जीडीपी लॉकडाउन में फंसी है और बाकी राज्यों में नाइट कर्फ्यू है। एसबीआई रिसर्च (SBI Research) ने भी एक रिपोर्ट में कहा कि पहली तिमाही में इकॉनमी को 6 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। इससे पहले 29 अप्रैल की रिपोर्ट में इसके 1.86 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान जताया गया था। इसमें जून तिमाही में रियल जीडीपी नुकसान के 4 से 4.5 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान जताया गया है।
बार्कलेज ने वित्त वर्ष 2022 के लिए भारत के ग्रोथ अनुमान को 10 फीसदी से घटाकर 9.2 फीसदी कर दिया और कहा कि हर हफ्ते होने वाला नुकसान मई में बढ़कर 8 अरब डॉलर हो गया है जो अप्रैल के अंतिम दो हफ्तों में 5.3 अरब डॉलर था। एसबीआई रिसर्च ने भी वित्त वर्ष 2022 के लिए ग्रोथ के अनुमान को कम कर दिया है। पहले उसने इसके 10.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। अब उसका कहना है कि यह सिंगल डिजिट में रहेगी।

Next Post

तूफान यास के कारण कोलकाता और भुवनेश्वर में उड़ान सेवा रोकी गई

Wed May 26 , 2021
नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Cyclone ‘yas’) के कारण खतरे की आशंका को देखते हुए नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) ने कोलकाता एयरपोर्ट (Kolkata Airport) से आज की सभी उड़ानों को रद्द कर दिया है। कोलकाता से शाम 7.45 बजे तक न तो कोई विमान उड़ान भरेगा और न ही लैंड करेगा। इसके […]