बड़ी खबर

स्वाति मालीवाल से मारपीट मामले ने पकड़ी रफ्तार, 3 राज्यों के CM और एक केंद्रीय मंत्री का सामने आया बयान

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में मारपीट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। 3 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। ये तीनों राज्य वो है, जहां बीजेपी की सरकार है।

मध्य प्रदेश के सीएम : स्वाति मालीवाल से मारपीट मामले पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा, ‘जो बोलना है, अरविंद केजरीवाल को बोलना है। जो हुआ है, उनकी पार्टी में हुआ है, उनके घर में घटना घटी। वे(स्वाति मालीवाल) उन्हीं की पार्टी की राज्यसभा सांसद हैं। जनता सब देख रही है, जनता उन्हें माफ नहीं करेगी।

असम के सीएम : असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, ‘केजरीवाल के आवास पर जो कुछ भी होता है, वे कहते हैं कि यह भाजपा की साजिश है लेकिन स्वाति मालीवाल भाजपा की नहीं, आम आदमी पार्टी की सांसद हैं।


उत्तराखंड के सीएम : उत्तराखंड के सीएम पु्ष्कर सिंह धामी ने कहा, ‘जिस मुख्यमंत्री आवास में विकास की योजनाएं बननी चाहिए थीं, दिल्ली को आगे बढ़ाने की योजनाएं बननी चाहिए, वहां इस प्रकार की घटनाएं हो रही हैं वो भी उन्हीं की पार्टी की सांसद के साथ। जब महिला सांसद के साथ इस प्रकार की घटना हो रही है तो और महिलाओं के बारे में उनकी क्या सोच होगी। ये पूरी तरह से दिखता है कि पार्टी(AAP) महिला विरोधी पार्टी है, महिलाओं का उत्पीड़न करने वाली पार्टी है।

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी : केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा, ‘मैं अरविंद केजरीवाल से पूछना चाहता हूं कि सांसद आपने बनाया, तो वो हमारी बात क्यों मानेगा? क्या आपने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है? 4-5 महीने पहले आपने किसी को सांसद बनाया और बाद में वे(अरविंद केजरीवाल) कहते हैं कि वो हमारी(भाजपा) बात मान रहे हैं। भाजपा और भाजपा के नेताओं पर आरोप लगाने से पहले अरविंद केजरीवाल, आप अपना सिस्टम सुधारें।

 

Share:

Next Post

अफगानिस्तान: बाढ़ ने फिर मचाई तबाही, करीब 50 लोगों की हुई मौत

Sat May 18 , 2024
इस्लामाबाद। अफगानिस्तान में बाढ़ ने एक बार तबाही मचाई है। अफगानिस्तान के गोर प्रांत में भारी बारिश के कारण कई जगह पर अचानक बाढ़ आने से कम से कम 50 लोगों की मौत हुई है। तालिबान के एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि मृतकों की संख्या प्रारंभिक सूचनाओं पर आधारित […]