देश

उत्तराखंड में नाबालिग लड़कियों के अपहरण के बाद तनाव, जबरदस्ती बंद करवाई जा रहीं मुस्लिमों की दुकानें

नई दिल्‍ली (New Delhi)। उत्ताखंड के पिथौरागढ़ के धारचूला (Dharchula of Pithoragarh)में दो नाबालिग लड़कियों (minor girls)के अपहरण (Abduction)के बाद तनाव की स्थिति पैदा (create a situation of tension)हो गई है। यहां के स्थानीय व्यापारियों ने यहां दूसरे राज्यों से आए व्यापारियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इनमें ज्यादातर मुस्लिम व्यापारी शामिल हैं। यहां के स्थानीय व्यापारी चाहते हैं बाहर से आए ये मुस्लिम व्यापारी राज्य छोड़कर चले जाएं और इसके लिए वह जबरदस्ती उन्हें अपनी दुकानें भी बंद करने के लिए मजबूर कर रहे हैं। स्थानीय व्यापारियों के संगठन- धारचूला व्यापार संघ- ने राज्य का माहौल खराब करने के चलते और बाहरी होने का हवाला देते हुए 91 दुकानदारों की सदस्यता रद्द कर दी है।

दरअसल उत्तर प्रदेश के बरेली के कुछ लोगों पर धारचूला की दो नाबालिग लड़कियों को बहला-फुसलाकर ले जाने का आरोप है। इसी के चलते अब यहां के व्यापारी बाहर से आए दुकानदारों को राज्य से बाहर करना चाहते हैं। धारचूला के एसडीएम मंजीत सिंह ने कहा कि धारचूला शहर में 91 दुकानदारों की सदस्यता स्थानीय व्यापारियों की कार्यकारी समिति ने बाहरी होने के आधार पर रद्द कर दी है। उन्होंने कहा, परिस्थितियों को देखते हुए, जिला प्रशासन उन्हें पूरी सुरक्षा दे रहा है और व्यापारियों के साथ बैठक और बातचीत भी कर रहा है ताकि उन्हें क्षेत्र में शांति भंग न करने की सलाह दी जा सके।

तीन दिनों से दुकानें बंद लेकिन राज्य छोड़ने को तैयार नहीं व्यापारी

मंजित सिंह का कहना है कि इलाके में पसरे तवाव के चलते दूसरे राज्यों से आए व्यापारियों ने पिछले तीन दिनों से अपनी दुकानें नहीं खोली हैं लेकिन इनमें से कोई अभी तक इलाका छोड़कर नहीं गया है। इसके अलावा कोई भी मकान मालिक भी इन लोगों को घरों से बाहर निकालने के लिए आगे नहीं आया है। मंजित सिंह ने बताया है कि जिन बाहर व्यापारियों की सदस्यता रद्द की गई है उनमें ज्यादातर मुस्लिम समुदाय के लोग ही शामिल हैं।


‘नाबालिग लड़कियों से किया शादी का वादा और बहला फुसला कर ले गए’

व्यापार संघ के सचिव महेश गर्बियाल ने कहा, “दूसरे राज्यों के व्यापारी आपराधिक गतिविधियों में शामिल पाए गए हैं, जिसे इस संवेदनशील शहर में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। जिन दुकानदारों की सदस्यता रद्द की गई है वे बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक दोनों समुदाय से हैं। उन्होंने बताया कि बरेली के दो दुकानदार इस साल की शुरुआत में दो नाबालिग लड़कियों को शादी करने का वादा कर बहला फुसला कर अपने साथ ले गए थे। इसी घटना के बाद बाहरी लोगों की सदस्यता रद्द करने का फैसला लिया गया।

6 नामित और 40 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर

पिथौरागढ के सर्कल अधिकारी परवेज अली ने कहा कि क्षेत्र में शांति भंग करने की कोशिश करने वाले लोगों के खिलाफ अब तक चार एफआईआर दर्ज की गई हैं, नई एफआईआर 16 मार्च को आईपीसी की धारा 295 ए के तहत छह नामित और 40 अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज की गई है।

उन्होंने बताया कि इलाके में तनाव उस वक्त बढ़ गया था जब बरेली के दो व्यापारी यहां की दो नाबालिग लड़कियों को बहला फुसला कर ले गए थे। हालांकि बाद में लड़कियों को बचा लिया गया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और इलाके में शांति बनाए रखने के लिए सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी की गई है।

Share:

Next Post

लोकसभा चुनाव : 400 पार का टारगेट पूरा करना बीजेपी के लिए आसान नहीं, जाने क्‍या कहते हैं आंकड़े

Tue Mar 19 , 2024
नई दिल्ली (New Delhi) । बीजेपी (BJP) ने इस बार लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में अपने लिए 370 से ज्यादा सीटें जीतने का और अपने गठबंधन (NDA) के लिए 400 से ज्यादा सीटों का लक्ष्य रखा है। बीजेपी नेता और मौजूदा सरकार के मंत्री से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) तक […]