बड़ी खबर व्‍यापार

देश की अर्थव्यवस्था में वित्त वर्ष 2020-21 में 6.6 फीसदी की रही गिरावट

– एनएसओ ने शुरुआती अनुमान में जीडीपी ग्रोथ में 7.3 फीसदी की गिरावट बताया

नई दिल्ली। कोरोना महामारी (corona pandemic) को रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन (nationwide lockdown) के कारण सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) (Gross domestic product (GDP)) में वित्त वर्ष 2020-21 में 6.6 फीसदी की गिरावट (6.6 percent drop) रही। इससे पहले मई, 2021 में जारी शुरुआती अनुमानों में कहा गया था कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान जीडीपी में 7.3 फीसदी की गिरावट आई है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने सोमवार को जारी संशोधित आंकड़ों में यह जानकारी दी।


राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय के जारी संशोधित आंकड़ों के मुताबिक देश की अर्थव्यवस्था में कोरोना महामारी और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण वित्त वर्ष 2020-21 में 6.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। एनएसओ के मुताबिक ये आंकड़ा मई, 2021 में जारी अस्थायी अनुमानों से कहीं बेहतर है। दरअसल उस समय कहा गया था कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कोरोना महामारी और सख्त देशव्यापी लॉकडाउन के कारण जीडीपी में 7.3 फीसदी का संकुचन आया था।

एनएसओ के जारी संशोधित राष्ट्रीय खाता आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 और वित्त वर्ष 2019-20 के लिए वास्तविक जीडीपी जो स्थिर कीमतों (2011-12) पर आधारित है क्रमशः 135.58 लाख करोड़ रुपये और 145.16 लाख करोड़ रुपये है, जो वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 6.6 फीसदी की गिरावट को दर्शाता है, जबकि वित्त वर्ष 2019-20 में ये 3.7 फीसदी बढ़ा था। बता दें कि वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2021-22 के आर्थिक सर्वेक्षण में 8-85 फीसदी जीडीपी ग्रोथ रहने का अनुमान जताया है। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

उत्तराखंड में 632 उम्मीदवार चुनाव मैदान में, 95 दावेदारों ने नामांकन वापस लिया

Tue Feb 1 , 2022
देहरादून। उत्तराखंड में विधानसभा चुनावों (assembly elections in uttarakhand) के लिए सोमवार को नामांकन वापसी के अंतिम दिन 95 दावेदारों ने अपने नामांकन वापस (95 claimants withdraw their nominations) ले लिये। प्रदेश के सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए अब 632 उम्मीदवार चुनाव मैदान (632 candidates fray) में रह गए हैं। विधानसभा चुनावों के लिए […]