खरी-खरी ब्‍लॉगर

अग्निबाण का 46वें वर्ष में प्रवेश, प्यार से रोपा पौधा…बना दुलार का वटवृक्ष…

45 वर्ष की उम्र और लाखों पाठकों का बचपन सा दुलार… युवाओं सी जिम्मेदारी का अहसास और बुजुर्गों-सी गंभीरता की उम्मीद… यह दौलत कमाई अग्निबाण ने अपने जन्मदाता प्राणपुरुष स्व. नरेशचंद्रजी चेलावत की आस, विश्वास और प्रयास से जन्म लिए अग्निबाण ने …जिसके हर शब्द में… हर खबर में… हर विचार में पाठकों के प्रति […]

खरी-खरी ब्‍लॉगर

अखबार को ऐतबार बनाने में दे डाली प्राणों की आहुति

      कसक के 39 बरस आज 39 बरस हो गए हैं उनसे जुदा हुए… वक्त को खफा हुए…संकरे-से शहर में उम्मीदों की कलम की स्याही को रोशन कर उन्होंने अग्निबाण का ख्वाब लिखा और उसकी ताबीर में खुद को खपा दिया…जेब से फक्कड़ थे, मगर जिगर में जुनून था… जेहन में चिंताएं थीं […]

खरी-खरी ब्‍लॉगर

उंगली उठाओगे तो सर शर्म से झुक जाएगा… किसने कितनी गाय पाली कोई बता नहीं पाएगा…

गाय हमारी माता है, लेकिन केवल दूध पीना आता है… जब तक दूध दे उसे खिलाया-पिलाया, पाला-पोसा जाता है… जितना दूध घटे उतना चारा घटाया जाता है… और न दे पाए तो मरने के लिए छोड़ दिया जाता है… ऐसी गायों को पालने के लिए कोई आगे आए.. अपना प्रेम जताए… संस्कृति का अलख जगाए […]

खरी-खरी

हर कोई है अपने अंजाम से वाकिफ… नौका को बचाने के लिए कोई अपना जहाज क्यों डुबाएगा

यूक्रेन हैरान है… क्योंकि वो नादान है…भला रूस से कौन टकराएगा…नौका को बचाने के लिए कोई अपना जहाज क्यों डुबाएगा…डराएगा… धमकाएगा… गुर्राएगा… लेकिन अपनी सेना लेकर न अमेरिका चढ़ाई करने जाएगा न फ्रांस, जापान या ब्रिटेन ओखली में अपना सिर फंसाएगा…रूस हथियारों से भी शक्तिशाली…उसके पास न पैसों की कमी है न किसी दूसरे देश […]

खरी-खरी

बड़ी देर कर दी मेहरबां जागते-जागते..

जिंदे को दो बूंद पानी के लिए तरसाए और मौत आने पर गंगाजल पिलाए…यह कैसी सरकार है, जो मुसीबतें मिनटों में बढ़ाए और मुसीबतों में फंसे लोगों के आहत होने के बाद राहत पहुंचाए…देश में नोटबंदी लागू करने का फैसला चंद मिनटों में ले लिया जाता है…जिस वक्त फरमान सुनाया जाता है उसी वक्त अमल […]

खरी-खरी

पुतिन चाहे जमीन जीत लें लेकिन जमीर उनका मरा हुआ नजर आएगा… रूस भले ही जंग जीत ले पर जीत कर भी वह हार जाएगा…

दीपक भारी पड़ गया तूफान पर… बुझने से पहले मिटने का जो हौसला दिखाए वह दीपक जिस देश को रोशनी दिखाए… उसके उजाले को कौन मिटा पाए… सलाम यूक्रेन को… सलाम जेलेंस्की को… जिस देश का एक मसखरा देश के स्वाभिमान के लिए इतना गंभीर हो जाए… अपने देशवासियों के लिए भावुक होकर आंसू बहाए… […]

खरी-खरी ब्‍लॉगर

अहिल्या की नगरी में संस्कृति की परख

असली स्वच्छता… रिश्तों की गंदगी साफ करने में भी जुटा इंदौर का प्रशासन… स्वच्छता का एक और तमगा जो किसी सरकार के ऐलान से नहीं पाया… जिसके लिए किसी प्रतिस्पर्धा का मंच नहीं सजाया… जिसे चुनौती देने कोई बाहरी नहीं आया… बस बेबस आंखों में आंसू देखे और प्रशासन ने जज्बा जगाया… रिश्तों की गंदगी […]

खरी-खरी

लड़ेंगे वो… फंसेंगे हम…

रूस मुहाने पर… अमेरिका सिरहाने पर… पूरी दुनिया के चौधरी बने अमेरिका की चौधराहट को इस बार दुनिया के दूसरे शक्तिशाली देश रूस ने चुनौती देकर चक्रम बना दिया है… अमरिका बौखला रहा है… धमका रहा है, लेकिन रूस आंखें दिखा रहा है… ताकत बता रहा है… आगे बढ़ता जा रहा है… उसे न तो […]

खरी-खरी

बच्चों के हाथों में बूढ़ी कांग्रेस

बहुत ही बुरे दौर से गुजरती कांग्रेस… अच्छे साथ छोड़ते जा रहे हैं… सिद्धू जैसे सिरफिरे और चन्नी जैसे नौसिखिए गले पड़े जा रहे हैं… सिद्धू राजनीति को खेल बना रहे हैं… जो सामने आ रहे हैं उन्हें गेंद समझकर उछाले जा रहे हैं… अपने प्यादों को बाउंड्री पार पहुंचाए जा रहे हैं… खुद की […]

खरी-खरी

जो संत रविदास को समझ न पाए… वो उनका जीवन समझाएं… खुद जातियों में चुनकर सत्ता में आए…और जाति भेद की गाथा गाएं…

संत रविदास ने भी नहीं सोचा होगा कि 500 साल बाद पूरा देश यकायक उन्हें पूजने लग जाएगा… हर नेता उनके गीत गाएगा…उनकी जयंती इतनी धूमधाम से मनाएगा कि हर शख्स हैरान रह जाएगा… देश के प्रधानमंत्री उनकी चरित्रावली में चार चांद लगाएंगे… राज्यों के मुख्यमंत्री उनकी जीवनी लिखने लग जाएंगे… सारे राजनीतिक दल उनके […]