बड़ी खबर व्‍यापार

RTO में फिर शुरू हुआ Driving License बनाने का काम, यहां हो रही है होम डिलीवरी!

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम RTO में शुरू हो गया है। हालांकि अभी परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस ही बनाए जा रहे हैं, लर्निंग लाइसेंस वालों को अभी इंतजार करना होगा। लाइसेंस रीन्यूअल का काम भी अभी नहीं शुरू हुआ है। ड्राइविंग लाइसेंस के अलावा दूसरी सर्विसेज जैसे फिटनेस सर्टिफिकेट बनाने की भी शुरुआत हो चुकी है।

31 मई से RTO में शुरू हुआ काम
ड्राइविंग लाइसेंस का काम 31 मई से ही शुरू हो चुका है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में RTO ट्रांसपोर्टनगर पहले स्थाई लाइसेंस आवेदकों को तीन शिफ्टों में बुला रहा है। पहली शिफ्ट सुबह 10:30 बजे से 12:30 बजे तक। दूसरी शिफ्ट दोपहर 12:30 बजे से दोपहर 2:30 बजे तक और तीसरी शिफ्ट 3 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक है। जिन लोगों ने स्लॉट पहले से बुक कर रखे हैं उन्हें इन तीन शिफ्ट में जाकर अपना ड्राइविंग लाइसेंस का काम पूरा करना है। यहां रोजाना 180 ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

लर्निंग लाइसेंस के लिए करना होगा इंतजार
हालांकि अभी सिर्फ परमानेंट लाइसेंस बनाने का काम चल रहा है, लर्निंग लाइसेंस वालों को अभी इंतजार करना होगा। 30 जून के बाद लर्निंग लाइसेंस बनाए जाने का काम नए निर्देशों के तहत किया जाएगा। साथ ही लाइसेंस के रीन्यूअल और डुप्लीकेट लाइसेंस का काम भी अभी शुरू नहीं हुआ है। 15 जून के बाद रीन्यूअल और डुप्लीकेट लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक कर सकेंगे। ऐसे में जिन आवेदकों ने स्लॉट पहले बुक कर लिया था और कैंसिल हो गया उन्हें दोबारा स्लॉट लेना पड़ेगा, लेकिन इसके लिए उन्हें दोबारा फीस नहीं चुकानी होगी।

[relpost

कोरोना की वजह से बंद था लाइसेंस का काम
आपको बता दें कि लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए परिवहन विभाग ने ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को 22 अप्रैल से 15 मई तक स्थगित कर दिया था, फिर जब मामले नहीं रुके तो इसे 15 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया। इसके बाद 29 मई तक ऑनलाइन बुक स्लॉट्स की तारीख 16 जून के बाद रिशेड्यूलिग करने की सूचना जारी की गई। इसके बाद केंद्र सरकार के आदेश के बाद 1 फरवरी 2020 को एक्सपायर हो रहे ड्राइविग लाइसेंस की वैलिडिटी को भई 30 जून तक बढ़ाने का आदेश जारी किया।

दिल्ली में भी जल्द होगा तारीखों का ऐलान
इधर दिल्ली में भी एक महीने से क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (RTO) बंद है, सिर्फ लर्निंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन पर काम हो रहा है। ड्राइविंग टेस्ट बंद होने की वजह से स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया बिल्कुल ठप पड़ी है। लेकिन सूरजमल विहार स्थित क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के MLO अनिल चिकारा का कहना है कि जिनकी तारीख निकल चुकी है या आने वाली है, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। जिन लोगों की ड्राइविंग टेस्ट की तारीख निकल गई है, उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। उन्हें मैसेज करके नई तारीख बता दी जाएगी।

छत्तीसगढ़ में ड्राइविंग लाइसेंस की होम डिलीवरी
इधर छत्तीसगढ़ में ड्राइविंग लाइसेंस, गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) समेत 22 सेवाओं की होम डिलीवरी होगी, इसके लिए आवेदकों को RTO के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सात दिनों में दस्तावेज स्पीड पोस्ट के जरिए लोगों के घर पहुंचा दिए जाएंगे। इस योजना को ‘तुंहर सरकार तुंहर द्वार अब पहुंचाही जरूरी कागजात आपके द्वार’ नाम दिया गया है।

Next Post

10 जून के बाद सरकार जारी करेगी Transfer Policy

Thu Jun 3 , 2021
लॉकडाउन खत्म होने के बाद हट सकती है तबादलों पर रोक भोपाल। प्रदेश में कोरोना (Corona) महामारी के संक्रमण (Infection) और उसके बाद लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते इस बार अभी तक प्रदेश में तबादलों पर लगी रोक नहीं हट पाई है। जून में धीरे-धीरे लॉकडाउन (Lockdown) समाप्त होने के बाद सरकार (Government) 10 […]