Uncategorized

नीट और यूजीसी-नेट पेपर लीक मुद्दे को हम संसद में उठाएंगे – कांग्रेस सांसद राहुल गांधी


नई दिल्ली । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Congress MP Rahul Gandhi) ने कहा कि नीट और यूजीसी-नेट पेपर लीक मुद्दे को (NEET and UGC-NET paper leak issue) हम संसद में उठाएंगे (We will raise in Parliament) । उन्होंने कहा नीट और यूजीसी-नेट के पेपर लीक हुए हैं। कहा जा रहा था कि नरेंद्र मोदी ने यूक्रेन की लड़ाई रोक दी थी। इजराइल और गाजा की लड़ाई को भी नरेंद्र मोदी ने रोक दिया था, लेकिन किसी न किसी कारण में हिन्दुस्तान में जो पेपर लीक हो रहे हैं उन्हें नरेंद्र मोदी नहीं रोक पा रहे या फिर रोकना नहीं चाहते।


नीट और यूजीसी-नेट पेपर लीक मुद्दे पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, “हां बिल्कुल, हम संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे। नीट मुद्दे और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द होने पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, इसके पीछे का कारण पेपर लीक का मुद्दा यह है कि शिक्षा प्रणाली पर भाजपा के मूल संगठन का कब्जा हो गया है। जब तक इस पर रोक नहीं लगाई जाती, पेपर लीक होते रहेंगे। मोदी जी ने इस कब्जे को आसान बनाया है। यह एक राष्ट्रविरोधी गतिविधि है।”


उधर महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष दीपा दुबे ने कहा कि नीट पेपर लीक के इस कबूलनामे के बाद यह पूरी तरह स्पष्ट हो चुका है कि इस परीक्षा में बड़े स्तर पर धांधली हुई  है। यह भाजपा सरकार की विफलता को दर्शाता है कि वह हमारे शिक्षा तंत्र की गरिमा को बनाए रखने में असमर्थ रही है। सरकार को इस परीक्षा को तुरंत रद्द करके इसे नए सिरे से आयोजित करवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की नाकामी के कारण आज हमारे देश के युवाओं का भविष्य अंधकार में है। जब तक ऐसे भ्रष्टाचार को समाप्त नहीं किया जाएगा, तब तक हमारे देश के शिक्षा तंत्र की साख पर प्रश्नचिन्ह लगा रहेगा। इस धांधली में संलिप्त लोगों पर कड़ी से कड़ी कारवाई करनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी घटनाएं दोबारा न हों।

Share:

Next Post

नीट परीक्षा की सीबीआई जांच की मांग की कांग्रेस, लेफ्ट और एबीवीपी ने

Thu Jun 20 , 2024
नई दिल्ली । कांग्रेस, लेफ्ट और एबीवीपी (Congress, Left and ABVP) ने नीट परीक्षा की (Into NEET Exam) सीबीआई जांच की मांग की (Demand CBI Inquiry) । शिक्षा मंत्रालय यूजीसी-नेट जून 2024 की परीक्षा रद्द कर चुका है। मंत्रालय का मानना है परीक्षा की सत्यता से समझौता हुआ है। मंत्रालय द्वारा लिए गए इस निर्णय […]