टेक्‍नोलॉजी

WhatsApp यूज़र्स कर रहे हैं शिकायत! ऐप पर अपने आप हो रहे हैं बैन, जानिए क्या है वजह

मुबंई। सोशल मीडिया पर बहुत सारे यूज़र्स ने वॉट्सऐप (WhatsApp) से जुड़ी एक परेशानी को शेयर करते हुए कहा है कि अचानक मैसेज पढ़ते समय या ऐप को इस्तेमाल करते समय वो अपने आप लॉगआउट हो रहा है। वहीं कुछ यूज़र्स ने खुद ऐप पर बैन होने की बात भी शेयर की है। जानकारों का मानना है कि शायद ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि यूज़र्स ने वॉट्सऐप की पॉलिसी को ब्रीच किया है। अगर आपको भी ये समस्या आ रही हो तो, आप कंपनी को इस समस्या के लिए मेल कर सकते है।

मशहूर फोरम वेबसाइट Reddit पर एक यूज़र ने अपनी प्रॉब्लम शेयर करते हुए लिखा है कि उसे अचानक उसके अकाउंट से बैन कर दिया गया। उसने फेसबुक ओन्ड ऐप को कई सारे मेल किए लेकिन कंपनी की तरफ से कोई जवाब नहीं आया। उसने ये भी बताया की उसने कभी भी वॉट्सऐप की पॉलिसी के अगेंस्ट कुछ नहीं किया। बाद में उसने रिवील किया कि उसका एक कांटेक्ट पर्सन हैकिंग जैसी एक्टिविटी में शामिल था, जिसके चलते उसके अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया था।

हाल ही के साइबर अटैक के बढ़ते घटना के चलते ऐसा किया गया है कि 12 घंटे के बैन के बाद टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑथेंटिकेशन के जरिए उसके मोबाइल पर ओटीपी आया जिसके बाद वो लॉगिन करने में सक्षम हो गई।

संदिग्ध गतिविधियों के कारण हो सकते हैं बैन
वॉट्सऐप अपने पॉलिसी के तहत संदिग्ध गतिविधियों के कारण आपके अकाउंट को बैन कर सकता है। इन गतिविधियों में बल्क में मैसेज भेजना या फिर ऑटोमेटेड मैसेज सेट कर के मैसेज सेंड करेंगे तो फिर आपका अकाउंट वॉट्सऐप बैन कर सकता है। मैसेज लगातार भेजने को वॉट्सऐप संदिग्ध गतिविधि मानता है। वॉट्सऐप ने यूज़र्स के लिए एक लिमिट सेट कर रखा है।

लेकिन आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि आप उस लिमिट को कभी क्रॉस नहीं कर सकते है। वॉट्सऐप कभी बिना बताए किसी यूज़र को बैन नहीं करता और अगर गलती से आपका अकाउंट बंद भी हो जाए तो आपके पास वॉट्सऐप सपोर्ट को मेल के ज़रिए आप बता सकते है कि आपका अकाउंट गलती से बैन हुआ है।

Next Post

नवरात्रि के छठे दिन मां दुर्गा के इस रूप की करें अराधना, जानें पूजा विधि व महत्‍व

Sun Apr 18 , 2021
आज चैत्र नवरात्रि (Navratri 2021) का छठा दिन है और इस दिन मां दुर्गा के छठे स्‍वरूप मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना (Maa Katyayani Worship) की जाती है । पौराणिक मान्यताओं (Mythological beliefs) के अनुसार, कात्यायिनी मां का स्वरूप सुख और शांति प्रदान करने वाला है। देवी कात्यायनी की पूजा सुबह किसी भी समय कर सकते […]