क्राइम देश

पति का इलाज नहीं करा पाई तो तीन बच्चों सहित महिला ने खाया जहर, चारों ने तड़प-तड़पकर तोड़ा दम


गाजियाबाद। गाजियाबाद जिले के लोनी में ट्रॉनिका सिटी थाना इलाके की इलाचीपुर गांव में एक महिला ने पति की टीबी की बीमारी का इलाज नहीं करा पाने पर शनिवार शाम अपने तीन बच्चों के साथ जहर खा लिया। महिला और इकलौते बेटे की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो बेटियों की दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में इलाज के दौरान रविवार सुबह मौत हो गई। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इलायचीपुर गांव अमन गार्डन कॉलोनी में मोनू परिवार के साथ रहता है। वह मजदूरी करता है। घर में पत्नी मोनिका (30), बेटा अंश (3), दो बेटियां मनाली (11) और साक्षी (6) समेत परिवार के अन्य सदस्य रहता है। मोनू और मोनिका की 13 साल पहले शादी हुई थी। पुलिस के अनुसार मोनू के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। लोनी सीओ रजनीश कुमार उपाध्याय ने बताया कि आसपास के लोगों ने बताया कि मोनू को करीब तीन माह पहले टीबी हो गई थी। उसका सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा था लेकिन तबीयत ठीक नहीं रहती थी।

आसपास के लोगों ने कहा कि कुछ समय पूर्व मोनू के पिता राम सिंह की भी मौत टीबी की वजह से हो गई थी। जिसकी वजह से मोनिका परेशान रहती थी। मोनिका पति का इलाज बड़े निजी अस्पताल में कराना चाहती थी। पुलिस पूछताछ में लोगों ने कहा कि निजी अस्पताल में इलाज न कराने पर मोनिका परेशान रहती थी। मोनू का भाई पड़ोस में रहता है। शनिवार को मोनू मजदूरी पर गया था।


शाम करीब साढ़े तीन बजे मोनिका ने अपने तीनों बच्चों के साथ घर में ही जहर खा लिया। कुछ देर बाद दोनों बेटियों की तबीयत खराब होने लगी। तबीयत खराब होने पर मोनिका कुछ नहीं बोली, इस दौरान घर में बीमार पड़ी सास किसी तरह उठी और अपने दूसरे बेटे को बुलाया। दोनों बेटियों मनाली और साक्षी की तबीयत खराब होने पर महिला का जेठ दोनों बच्चियों को लेकर दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में पहुंचा और उन्हें भर्ती कराया।

जेठ जब घर पहुंचा, तो दोनों बेटियों की तबीयत खराब थी। उसे नहीं पता कि महिला और अंश ने भी जहर खाया है। मोनू जब घर पहुंचा, तो पत्नी और बेटे की मौत हो चुकी थी। मोनू को घर में दोनों का शव मिला। शव मिलने पर परिवार में मातम पसर गया। इसके बाद परिवार के लोगों ने पुलिस को सूचना दी है। सूचना पाकर लोनी सीओ पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने घटना स्थल का निरीक्षण किया।

सीओ ने बताया कि प्रथम दृष्टया लगता है परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने पर महिला ने खुद और बच्चों को जहर दिया। जहर किस चीज में मिलाकर खाया। इस बात की जांच की जा रही है। घर में ऐसा कुछ नहीं मिला है। पुलिस की टीम जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर जहर के बारे में पता चलेगा। दोनों बच्चियों की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

Share:

Next Post

भारत-पाक सीमा पर दिखी ड्रोन एक्टिविटी, बीएसएफ ने दो बार में किए 19 राउंड फायर

Sun Mar 6 , 2022
पठानकोट। पठानकोट में भारत-पाक सीमा से सटे बमियाल सेक्टर के डींडा फारवर्ड पोस्ट के पास पाकिस्तान ने ड्रोन घुसपैठ की कोशिश की। शनिवार देर रात 2 बार यह कोशिश की गई। डींडा पोस्ट पर बीएसएफ की 121 बटालियन के जवानों ने ड्रोन एक्टिविटी देखी। इसके बाद बीएसएफ जवानों ने तत्काल कार्रवाई करते हुए ड्रोन पर […]