जीवनशैली धर्म-ज्‍योतिष

इन चार राशि पर क्यों नहीं रहता शनि साढ़ेसाती का प्रभाव ? जानें 2022 में केसा रहेगा शनि का प्रकोप

वैदिक ज्योतिष (Vedic astrology) में सभी 09 ग्रहों में शनि (Shani) का विशेष महत्व होता है। शनि अच्छे कर्म करने पर शुभ फल और बुरे कर्म करने पर अशुभ फल देते हैं। ज्योतिष (astrology) में शनिदेव (Shani) को न्याय का कारकर ग्रह माना गया है। शनि (Shani) की चाल बहुत ही धीमी होती है। यह किसी एक ग्रह में करीब ढाई वर्षों तक रहते हैं। कुंडली में अगर शनि की स्थिति शुभ होती हैं तो शनि हमेशा शुभ फल ही प्रदान करते हैं,वहीं अगर कुंडली (horoscope) में शनि (shani) अशुभ भाव में बैठे हैं तो यह जीवन में कई तरह की परेशानियां लाते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिदेव सभी 12 राशियों में कुछ राशि (rashi) पर विशेष कृपा रखते हैं। शनि (shani) की विशेष कृपा किन-किन राशियों (rashi) के जातकों पर रहती है इसे जानने से पहले आइए जानते हैं साल 2022 में शनि की कैसी रहेगी चाल और किन राशि पर चढ़ेगी शनि की साढ़ेसाती…

शनिदेव (shani) 29 अप्रैल 2022 को मकर (capricorn) से कुंभ राशि (aquarius) में प्रवेश कर जाएंगे। शनिदेव 30 साल के बाद स्वयं की राशि कुंभ में आने वाले हैं। शनि (shani) के राशि में बदलाव होने की वजह से मीन राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती शुरू हो जाएगी, वहीं धनु राशि (sagittarius) के जातकों पर साढ़ेसाती का प्रभाव खत्म हो जाएगा। इस तरह से 2022 में मकर, कुंभ और मीन राशि (Pisces) पर शनि (shani) की साढ़ेसाती का प्रभाव रहेगा। इसके अलावा कर्क और वृश्चिक राशि (cancer,scorpio) के जातकों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। तो वही मिथुन और तुला राशि (gemini,libra) के जातकों को शनि की ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी।शनिदेव का नाम आते ही लोगों के मन में घबराहट शुरू हो जाती है। लेकिन ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शनिदेव सभी को कष्ट नहीं देते हैं,बल्कि कुछ राशियों पर अपनी विशेष कृपा बरसाते हैं। जिन राशियों पर शनिदेव मेहरबान होते हैं वे बहुत ही भाग्यशाली होते हैं। इसके अलावा शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव भी इन राशियों के जातकों पर बहुत कम होता है।

वृष राशि– राशि चक्र में वृष राशि दूसरी राशि होती है। इस राशि के स्वामी शुक्र ग्रह होते हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुक्र और शनि देव आपस में मित्रवत रहते हैं। इस कारण से शनिदेव वृषभ राशि के जातकों पर हमेशा अपनी कृपा रखते हैं। शनि साढ़े का प्रभाव होने पर भी इन्हें बहुत कम कष्ट मिलता है। शनि की कृपा होने पर ये अपने जीवन में अच्छा मुकाम हासिल करते हैं।


तुला राशि
– शनिदेव तुला राशि में उच्च के होते हैं जिस कारण से ये सदैव इस राशि के जातकों को शुभ परिणाम देते हैं। शनि (shani) की विशेष कृपा होने पर इस राशि के जातकों के जीवन में धन संबंधित किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं होती।

कुंभ राशि– शनिदेव (shanidev) को दो राशियों का स्वामित्व प्राप्त है, उनमें से कुंभ राशि एक है। स्वयं की राशि होने पर शनिदेव कुंभ राशि के जातकों पर हमेशा शुभ परिणाम देते हैं। भाग्य का पूरा साथ मिलने कारण इनको हर तरह के कार्यों में सफलता अवश्य ही मिलती है।

मकर राशि– कुंभ राशि के अलावा मकर राशि शनिदेव (shanidev) की स्वयं की राशि होती हैं। इस वजह से शनि की कृपा इस राशि के जातकों पर हमेशा रहती है। धन के मामले में इस राशि के जातक बहुत ही भाग्यशाली होते हैं। शनि की विशेष कृपा होने कारण इनके जीवन में एशोआराम की कोई कमी नहीं रहती है।

Share:

Next Post

Vicky-Katrina की शादी में नहीं जा पाएंगे Salman, जानिए वजह

Tue Dec 7 , 2021
विक्की कौशल और कैटरीना कैफ (Vicky Kaushal and Katrina Kaif) की शादी इस समय सुर्ख़ियों में हैं। ऐसे में सभी बॉलीबुड (Bollywood) के लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं कब हो विक्की-कैटरीना (Vicky Kaushal and Katrina Kaif) की शादी (marriage) में शामिल हो जाएं, हालांकि शादी की पूरीं तैयारियां कर ली गई हैं, गत […]