इंदौर मध्‍यप्रदेश

कैशलेस बिजली बिल भरने पर मिलेगी ज्यादा छूट

पहले अधिकतम 20 अब 500 रू से ज्यादा की मिल सकेगी छूट

इंदौर। मध्यप्रदेश बिजली नियामक आयोग (Madhya Pradesh Electricity Regulatory Commission) ने हाल ही में प्रारंभ हुए नए वित्तीय वर्ष में निम्नदाब उपभोक्ताओं (consumers) के लिए कई प्रकार की सुविधाएं  भी दी हैं। पहले निम्नदाब कनेक्शन का बिजली बिल कैशलेस भरने पर आधा प्रतिशत या अधिकतम 20 रुपए छूट का प्रावधान था। अब 20 रु. की सीमा खत्म कर दी गई है। ऐसे में बड़ी राशि के कैशलेस बिजली बिल भुगतान पर ज्यादा छूट मिलेगी।

नए वित्तीय वर्ष के दूसरे सप्ताह से नई छूट के प्रावधान भी लागू हो गए हैं। गर्मी के मौसम में निम्नदाब (एलटी) के हजारों ऐसे उपभोक्ता हैं, जिनका बिजली बिल 50,000 से 1,00,000 रु. तक आता है। ऐसे उपभोक्ताओं को नियामक आयोग के नए आदेश से पहले की तुलना में 20 से 30 गुना तक छूट मिल पाएगी। पिछले वित्तीय वर्ष में यदि किसी एलटी उपभोक्ता ने 1,00,000 रु. बिजली बिल कैशलेस जमा किया तो उसे मात्र 20 रु. छूट मिलती थी, लेकिन अब यह छूट 500 रु. मिलेगी। इस तरह सवा लाख के बिल पर 600 तक छूट मिल सकेगी। इंदौर शहर में करीब 4000 से ज्यादा का बिल कैशलेस भरने वाले लगभग 50,000 उपभोक्ताओं को नए आदेश से लाभ मिलने की उम्मीद है।

कैशलेस को मिलेगा बढ़ावा

बिजली कंपनी शुरू से ही ऑनलाइन ट्रांजेक्शन बिजली बिल में पसंद कर रही है। इसमें बिल की राशि सीधे कंपनी अकाउंट में पहुंच जाती है। इसी को बढ़ावा देने के लिए छूट की राशि की सीमा बढ़ाई गई है। इससे ज्यादा उपभोक्ता कैशलेस बिल जमा करेंगे। हालांकि अभी भी इंदौर शहर में साढ़े 3 लाख बिजली उपभोक्ता ऑनलाइन बिल जमा कर रहे हैं।

Share:

Next Post

वैज्ञानिकों ने समुद्र में खोजे 5,500 नए वायरस, मानव ही नही जानवरों और पौधों के लिए भी है खतरा

Tue Apr 12 , 2022
नई दिल्ली। कोरोना वायरस ()corona virus महामारी के दौरान वैज्ञानिकों (scientists) ने समुद्र में एक बड़ी खोज की है। इस नई खोज में दुनियाभर के महासागरों से वायरस (विषाणु) की 5,500 नई प्रजातियां पाई गई हैं, जिन्हें शोधकर्ता उनकी विविधता के अनुसार अलग-अलग श्रेणियों में वर्गीकृत करने का काम कर रहे हैं। शोधकर्ताओं की एक […]