देश

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को हर महीने दिए जाएंगे 1500 रुपये, नीतीश सरकार का एलान

पटना। कोरोनावायरस महामारी में अनाथ हुए बच्चों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एलान के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी घोषणा की है। बिहार सरकार कोविड के दौरान अनाथ हुए बच्चों को हर महीने 1500 रुपये देने का फैसला किया है। बिहार में कोरोना की दूसरी लहर कहर बनकर टूटी है। राज्य में बड़ी संख्या में बच्चे अनाथ हो गए हैं।

किसी परिवार में बच्चे के सिर से पिता का साया उठ गया..तो किसी घर में मां की ममता खत्म हो गई। कुछ परिवारों में तो माता-पिता दोनों की मौत हो गई। ऐसे में बच्चों के सामने भविष्य को लेकर संकट खड़ा हो गया है। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने भी राज्य सरकारों और जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि कोविड के दौरान अनाथ हुए बच्चों की जिम्मेदारी जिला प्रशासन लें और सुनिश्चित करें कि उनका रहन सहन, खान-पान और शिक्षा सही तौर पर तो उपलब्ध हो रही है या नहीं।


पीएम केयर्स फंड से बच्चों को मिलेगा 10 लाख रुपये
शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों के लिए बड़ा एलान किया। पीएम ने कहा कि ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता की मौत कोविड-19 महामारी से हुई। उन्हें ‘पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रेन’ योजना के तहत 18 साल की उम्र तक हर महीने आर्थिक मदद दी जाएगी। 23 साल की उम्र पूरी होने पर उन्हें पीएम केयर्स फंड से 10 लाख रुपये मिलेंगे।

अनाथ बच्चों की शिक्षा का खर्च भी उठाएगी सरकार
इसके अलावा बच्चों की शिक्षा का खर्च भी इसी फंड के तहत दिया जाएगा। 10 साल से कम उम्र के बच्चों का नजदीकी केंद्रीय विद्यालय या निजी स्कूल में दाखिला, फीस, और किताबों का खर्च भी सरकार उठाएगी। जिन बच्चों को हायर एजुकेशन के लिए लोन चाहिए उन्हें भी राहत दी जाएगी। लोन का ब्याज पीएम केयर्स फंड से दिया।

Share:

Next Post

MP हनीट्रैप मामला : पूर्व CM कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ीं, SIT करेगी पूछताछ

Sun May 30 , 2021
भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ने वाली है।  हनीट्रैप की पेन ड्राइव मामले में एसआईटी ने नोटिस जारी किया है। पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के बचाव में कमलनाथ ने कहा था कि मेरे पास हनीट्रैप की पेन ड्राइव है। मध्यप्रदेश में हनीट्रैप की जांच कर एसआईटी ने […]