देश भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

मप्र में कोरोना के 178 नये मामले, एक की मौत

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 178 नये मामले (178 new cases of corona in last 24 hours) सामने आए हैं, जबकि 231 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 10 लाख 51 हजार 737 हो गई है। वहीं, राज्य में कोरोना से एक मरीज की मौत भी हुई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार देर शाम जारी कोविड-19 बुलेटिन में दी गई। एक दिन पहले राज्य में 112 नये संक्रमित मिले थे।


कोविड-19 बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 6,612 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 178 पॉजिटिव और 6,434 सेम्पल निगेटिव पाए गए। पॉजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत (संक्रमण की दर) 2.69 रहा। नये मामलों में इंदौर में 53, भोपाल में 50, जबलपुर में 9, सीहोर में 11, नर्मदापुरम और नरसिंहपुर में 7-7, रायसेन में 8, ग्वालियर में 5, उज्जैन, गुना, खंडवा और खरगोन में 3-3, कटनी में 2 तथा बालाघाट, बैतूल, डिंडौरी, मंडला और रतलाम में 1-1 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं, जबकि राज्य के 30 जिलों में कोरोना के नये मामले शून्य रहे। वहीं, राज्य में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना से एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। मृतक जबलपुर का निवासी था। इसके बाद राज्य में मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 10,763 हो गई है।

प्रदेश में अब तक कुल दो करोड़ 97 लाख 90 हजार 585 लोगों के सेम्पलों की जांच की गई। इनमें कुल 10,51,737 प्रकरण पाजिटिव पाए गए। इनमें 10,39,731 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें से 231 मरीज बुधवार को स्वस्थ हुए। अब यहां सक्रिय प्रकरणों की संख्या 1297 से घटकर 1243 रह गई। हालांकि, खुशी की बात यह भी है कि राज्य के 17 जिले अब भी पूरी तरह कोरोना संक्रमण से मुक्त हैं। इन जिलों में अब कोरोना का एक भी सक्रिय मरीज नहीं है।

इधर, प्रदेश में 10 अगस्त को शाम छह बजे तक एक लाख 659 लोगों का टीकाकरण किया गया। इन्हें मिलाकर राज्य में अब तक वैक्सीन के 12 करोड़, 65 लाख, 52 हजार 449 डोज लगाई जा चुकी है। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

रक्षाबंधन विशेष: कच्चे धागे-पक्के रिश्ते

Thu Aug 11 , 2022
– योगेश कुमार गोयल रक्षाबंधन का पर्व सदियों से भारतीय जनमानस का हिस्सा है। रक्षा का तात्पर्य बांधने वाले एक ऐसे धागे से है, जिसमें बहनें अपने भाइयों के माथे पर तिलक लगाकर जीवन के हर संघर्ष तथा मोर्चे पर उनके सफल होने तथा निरन्तर प्रगति पथ पर अग्रसर रहने की ईश्वर से प्रार्थना करती […]