क्राइम भोपाल मध्‍यप्रदेश

MP: नगर निगम लेखाधिकारी के 8 बैंक खातों में जमा हैं 47 लाख रूपये

मुरैना। मुरैना नगर पालिक निगम के लेखाधिकारी संतोष शर्मा (Accounts Officer Santosh Sharma) के 8 बैंक खातों में 47 लाख रूपये से अधिक की राशि जमा है वहीं बैंक में एक लॉकर भी लिया हुआ है। इन खातों व लॉकर की जानकारी आज गुरूवार को बैंक खुलने पर लोकायुक्त पुलिस लेने का कार्य करेगी। घर में मिले जमीनी दस्तावेजों की भी जांच की जा रही है। लोकायुक्त दल द्वारा की गई छापामार कार्यवाही के दौरान लेखाधिकारी (accounts officer) के यहां 4 लग्जरी वाहन, 32 तोला सोना, एक किलो चांदी, दो आवासीय भवन, एक व्यवसायिक शोरूम पाया गया।

दल में शामिल अधिकारियों द्वारा लेखाधिकारी से इस संबंध में जानकारी ली जा रही है। बुधवार की देर शाम तक लोकायुक्त की कार्यवाही जारी रही। दिनभर की कार्यवाही के बाद यह माना जा रहा है कि लेखाधिकारी संतोष शर्मा के पास उपस्थित सम्पत्ति लगभग 3 करोड़ रूपये से अधिक की है। यह सम्पत्ति किस तरीके से एकत्रित हुई यह विवेचना की जावेगी।


मुरैना के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी बसंत बिहार में सुबह 5 बजे लोकायुक्त के एक बड़े दल ने दस्तक दी। उनका लक्ष्य नगर पालिक निगम के लेखाधिकारी संतोष शर्मा का निवास था। काफी देर प्रयास के बाद जब घर के दरवाजे नहीं खुले तब लोकायुक्त दल को अन्य उपाय घर में घुसने के लिये करने पड़े। सुबह घर की प्राथमिक जांच के बाद संतोष शर्मा के पुत्र के व्यवसायिक शोरूम पर दल के अधिकारी पहुंचे यहां अधिकारियों ने शोरूम की स्थापना से लेकर खरीद बिक्री के अभिलेखों की जांच की। इस शोरूम की स्थापना में कितनी राशि व्यय की गई है, यह राशि कहां से आई इसकी दल द्वारा विस्तृत जांच की जावेगी। वहीं ग्वालियर (Gwalior) के तारा गंज तथा मुरैना के बसंत बिहार स्थित आवासीय भवनों का मूल्यांकन लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से कराया जावेगा। लेखाधिकारी के कार्यालय में भी लोकायुक्त का दल जांच के लिये पहुंचा था।

इस छापामार कार्यवाही के दौरान नगर पालिक निगम का 35 लाख रूपये का एक बिल मिला है। इसकी जांच की जा रही है कि यह कार्यालय में होना चाहिए था अधिकारी के घर पर क्यों पहुंचा। आज सुबह से ही नगरीय निकाय के अधिकारी व उनके संबंधित लोगों में लोकायुक्त की इस छापामार कार्यवाही को लेकर अनेक तरह की चर्चायें शहर में की जा रही है। लोकायुक्त की इस कार्यवाही के निशाने पर कुछ और भी लोग थे, लेकिन दो माह के दौरान प्राथमिक तोर पर जो साक्ष्य मिले उनके आधार पर यह कार्यवाही की गई है। ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक संजीव सिन्हा ने बताया कि विवेचना जारी रहेगी, कल लॉकर खोला जायेगा। समय-समय पर लेखाधिकारी से विवेचना में सहयोग लेकर कार्यवाही की जावेगी। अभी वर्तमान में सूचना देकर अधिकारी को चेतावनी दे दी जायेगी कि आवश्यकता पडऩे पर वह कार्यालय में उपस्थित हों।

Next Post

इस व्‍यक्ति के सिर से जूं निकालते हुए Ranbir Kapoor का विडियो हो रहा वायरल

Thu Jul 22 , 2021
मुंबई। बॉलीवुड एक्टर रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) के फैंस को लंबे समय से उनकी अगली फिल्म का इंतजार है. वह ‘संजू’ के बाद से ही फिल्मों में नजर नहीं आए हैं. वह सोशल मीडिया पर भी एक्टिव नहीं हैं. ऐसे में उनके फैंस अब उनके Throwback Videos देखकर ही खुद को तसल्ली दे रहे हैं. […]