विदेश

अमेरिकन नेवी शिप के पास मंडराते दिखें एलियंस, देखें वीडियों

वॉशिंगटन। प्रशांत महासागर में रहस्यमयी यूएफओ को लेकर वीडियो जारी हुआ है. एक खोजी फिल्ममेकर जेरेमी कोरबेल (Investigative filmmaker Jeremy Corbell) के अनुसार इस वीडियो में यूएस नेवी की रडार (US Navy Radar) में एक साथ 14 यूएफओ (14 UFOs) के कैप्चर किया गया.

इस महीने की शुरुआत में फिल्म निर्माता जेरेमी कोरबेल (Filmmaker Jeremy Corbell) ने फुटेज जारी (footage released) किया था, जिसमें समुद्र के ऊपर हवा में एक गोलाकार वस्तु तैरती दिखाई देती है, जिसे यूएफओ(UFOs) कहा जा रहा है. ऐसी ही रहस्यमयी वस्तु जुलाई 2019 में ओमाहा में अमेरिकी नौसेना(US Navy) के नाविकों द्वारा देखी गई थी. इसके बाद कोरबेल ने इस घटना का एक और वीडियो जारी किया, इस वीडियो क्लिप में ओमाहा पर नौसेनिकों द्वारा देखे जा रहे सैन्य रडार को दिखाया गया है.


खबरों के मुताबिक यूएस नेवी वॉरशिप को 14 यूएफओ ने एक गोले की तरह चारों तरफ से घेर कर रखा था. यूएस नेवी के अधिकारी दो अलग-अलग रडार सिस्टम से यूएफओ की स्पीड को चेक कर रहे थे. रडार में एक यूएफओ की स्पीड 138 नॉट यानि 158 मील प्रति घंटे की रफ्तार मापी गई, जिसे देखकर यूएस नेवी का जवान कहता है होली.. इनकी स्पीड तो काफी ज्यादा है. फिर वो सैनिक कहता है अरे ये फिर से मुड़ गया है.

इस वीडियो को लेकर फिल्म मेकर कॉरबेल ने कहा है कि मैंने एक अज्ञात सोर्स से इस वीडियो को प्राप्त किया है. हालांकि, यूएस नेवी को इससे ज्यादा कुछ भी पता नहीं चल पाया. ये यूएफओ कहां से आये थे और कहां चले गये, इसको लेकर यूएस नेवी कुछ भी जान नहीं पाई है. कॉरबेल ने बताया कि यूएसएस ओमाहा उन 9 वॉर शिप्स में से एक है, जिन्होंने जुलाई 2019 में यूएफओ को कैप्चर किया था.

कोरबेल ने अनुसार रडार की फुटेज कॉम्बैट इंफॉर्मेशन सेंटर के अंदर काम करने वाले एक व्यक्ति से मिली है. इसे ‘एक बहुत ही विशेष दृश्य खुफिया कर्मचारियों द्वारा फिल्माया गया था’ और रडार स्क्रीन को रिकॉर्ड किया गया था. कोरबेल ने उस फुटेज को देने से मना दिया, जिसमें रडार में एक साथ 14 इन यूएफओ को दिखाया गया था.

उन्होंने कहा कि रडार का वीडियो जारी करना उन अटकलों को खारिज करने के लिए था, जिसमें स्पष्ट रूप से उड़नतस्तरी दिखाने वाले प्रारंभिक फुटेज को अफवाह बताया जा रहा था. कहा ये जा रहा था, कि जो वस्तु रहस्यमयी तरीके से समुद्र के पानी में गायब हुई, वो पानी में गिरता हुआ गुब्बारा था. उन्होंने कहा कि वो एक पानी में गिरा गुब्बारा नहीं, बल्कि ऐसी चीज है, जिसे असानी से समझाया नहीं जा सकता है.

यूएस नेवी के लेफ्टिनेंट रॉयन ग्रेव्स ने 16 मई को अपने इंटरव्यू के दौरान कहा था कि मैंने अपने साथियों के साथ यूएफओ को सैकड़ों बार देखा है, जो सुरक्षित किए गये एयर स्पेस के बीच 2015 से 2017 के बीच देखे गये हैं. पायलट ने ये तस्वीरें मार्च 2019 में कोस्ट ऑफ ओसियाना में ली थी, जिसमें तीनों यूएफओ पिरामिड के आकार के दिखाई दे रहे थे.

पायलट ने दावा किया था कि जब वो इन उड़नतस्तरियों की तस्वीरें ले रहा था उस वक्त काफी तेज हवा चल रही थी, बावजूद इसके तीनों यूएफओ हवा में पूरी तरह से स्थिर थे और उनमें कोई हलचल नहीं हो रही थी.

Share:

Next Post

अब तक कि सफलतम योजना है ''सुकन्या समृद्धि योजना''

Sun May 30 , 2021
भोपाल । भारतीय समाज (Indian society) में कहा जाता है कि बेटियां तीन पीढ़ियों को उबारने वाली होती हैं। जहां बेटी नहीं वहां शुभता नहीं रहती, इसलिए हर घर में कम से कम एक बेटी का होना जरूरी है। बेटियां पृथ्वी पर ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार हैं, क्‍योंकि वे हैं तभी सृष्‍टि की निरंतरता […]