भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

भोपाल: मप्र में शराबबंदी होकर रहेगी, अगला चरण 14 फरवरी से होगा प्रारम्भः उमा भारती

भोपाल। भाजपा की फायरब्रांड नेत्री और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Former Chief Minister Uma Bharti) ने एक बार फिर मध्यप्रदेश में शराबबंदी (Liquor ban in Madhya Pradesh) को लेकर बड़ी घोषणा की है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा है कि मध्यप्रदेश में शराबबंदी होकर ही रहेगी। इसके लिए उन्होंने आगामी 14 फरवरी से अगले चरण की शुरुआत करने की बात कही है।

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शुक्रवार को सिलसिलेवार ट्वीट के माध्यम से कहा है कि हमारा शराबबंदी और नशाबंदी का अभियान सरकार के खिलाफ नहीं है। शराब और नशे के खिलाफ है। भाजपा, कांग्रेस और सरकार में बैठे लोगों को समझा पाना भी एक कठिन काम है। इन सब कारणों से अभियान के प्रारंभ से अभियान के पूर्णता तक मुझे स्वयं पूरी तरह से सजग एवं संलग्न रहना होगा, जिसके लिए मैं तैयार हूं। मेरी प्रथम चरण की बातचीत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवकों, प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से हो चुकी है। अगला चरण 14 फरवरी के बाद प्रारंभ करूंगी। शराबबंदी और नशाबंदी मध्यप्रदेश में होकर रहेगी।

उल्लेखनीय है कि उमा भारती मध्यप्रदेश में शराबबंदी की पक्षक्षर हैं और इसके लिए प्रदेश में जनजागरूकता अभियान चलाने की बात कही थी। इसके साथ ही उन्होंने 15 जनवरी 2022 तक शराबबंदी नहीं होने पर सड़क पर उतरकर आंदोलन छेड़ने की चेतावनी भी दी थी। हालांकि, इसी बीच राज्य सरकार ने नई शराब नीति लागू कर दी, जिसमें नियमों को शिथिल किया गया है। साथ ही शराब की कीमतें भी 20 फीसदी तक सस्ती हो जाएंगी। इस मामले को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने इस मुद्दे को उठाते हुए उमा भारती का साथ देने की बात तक कह दी है। अब उमा भारती ने पुनः शराब बंदी को लेकर 14 फरवरी से दूसरा चरण प्रारंभ करने की बात कही है।

उमा भारती के शराबबंदी के अभियान पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
मप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने उमा भारती के मध्य प्रदेश में शराब बंदी के अभियान को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती मप्र में शराबबंदी के अभियान को शुरू करने को लेकर लगातार तारीख पर तारीख देती जा रही हैं।

सलूजा ने कहा कि पहले उन्होंने 8 मार्च से शराबबंदी के अभियान को प्रारंभ करने की बात कही थी, तब भी उन्होंने कोई अभियान शुरू नहीं किया। उसके बाद उन्होंने 15 जनवरी से लट्ठ लेकर सड़क पर उतरने की बात कही थी, उनकी यह घोषणा भी अभी तक पूरी नहीं हो पाई और अब उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से 14 फरवरी, वेलेंटाइन डे से इस अभियान को प्रारंभ करने की बात कही है।

नरेन्द्र सलूजा ने उनकी इस नई घोषणा पर सवाल उठाते हुए कहा वह स्पष्ट करें कि आखिर क्या कारण है कि उनके इस अभियान की तारीख बार-बार बढ़ती जा रही हैं? उनके इस निर्णय में आखिर बाधक कौन है? उन्होंने लिखा है कि भाजपा और सरकार में बैठे हुए लोगों को इसके लिए समझा पाना भी एक कठिन काम है तो ऐसे कौन-कौन लोग हैं ,जिनको वह समझा नहीं पा रही हैं?

सलूजा ने कहा, उमा भारती जी कह रही हैं कि मध्य प्रदेश में शराबबंदी होकर रहेगी, इस संबंध में वह प्रतिदिन संवाद करेगी, तो वह बताएं कि यह निर्णय प्रदेश में आख़िर कब तक लागू होगा, कब वो सड़कों पर उतरेगी क्योंकि भाजपा तो लगातार उनकी इस घोषणा का उपहास उड़ा रही है। उमा भारती जी को बताना चाहिए कि उनका अगला कदम क्या होगा और हर बार की तरह वेलेंटाइन डे, 14 फरवरी की उनकी अगली घोषणा भी सिर्फ़ हवा- हवाई घोषणा बन कर तो नहीं रह जायेगी? (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

भारत सौर ऊर्जा का भी विश्व गुरु बन सकता है बशर्ते..

Sat Jan 22 , 2022
– ऋतुपर्ण दवे दुनिया में तरक्की के अलग-अलग पैमाने हैं। कहीं बड़ी इमारतों और विलासिता भरे जीवन को तो कहीं सादगी और भरपेट भोजन। हमारे यहाँ तो रोटी, कपड़ा और मकान को ही जीवन के तीन निशान मान लिए गए हैं। लेकिन अब वक्त बदल गया है। भारत की नई तस्वीर सारी दुनिया में बेहद […]