बड़ी खबर राजनीति

भाजपा 1 दिसंबर से करेगी गहलोत सरकार पर बड़ा अटैक, यह होगी रणनीति

जयपुर: राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot government ) के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूंकने वाली बीजेपी (BJP) ने अपनी जन आक्रोश यात्रा (Jan Aakrosh Yatra) का रोडमैप जारी कर दिया है. बीजेपी आगामी एक दिसंबर को अपनी जनाक्रोश यात्रा का आगाज करेगी. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जयपुर से 51 जन आक्रोश रथों को हरी झंडी दिखाकर विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के लिए रवाना करेंगे. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने दावा किया है कि जन आक्रोश यात्रा गहलोत सरकार में त्राहिमाम कर रही जनता के मुददों को मुखरता से आवाज देकर इस सरकार की नींव हिला देगी.

बीजेपी इस दौरान राजस्थान में आम जनता से सीधा संवाद करेगी. तय रणनीति के मुताबिक बीजेपी प्रदेशभर में 20 हजार जनसभाएं करेगी. जन आक्रोश की ये जनसभाएं 14 से 20 दिसंबर होंगी. पार्टी ने जनाक्रोश यात्रा के जरिये दो करोड़ लेागों तक सीधे जुड़ने का ऐलान किया है. जन आक्रोश रथों के साथ शिकायत पेटिका भी होगी. जनता से मिलने वाली शिकायतों का पार्टी संकलन करेगी और फिर उन मुददों को घोषणा-पत्र में शामिल किया जायेगा. जन आक्रोश यात्रा का थीम सॉन्ग भी लॉन्च किया गया है.

मिस्ड कॉल के जरिए भी आम जनता को पार्टी से जोड़ेगी
बीजेपी ने मिस्ड कॉल के जरिए भी आम जनता को पार्टी से जोड़ने का ऐलान किया है. इसके लिए बाकयदा नंबर जारी कर दिया गया है. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने आरोप लगाया कि राज्य के इतिहास में अब तक इतनी नाकारा, अराजक और भ्रष्ट सरकार किसी ने नहीं देखी. राज्य में स्वान नवजात के शव नोचते हैं. जयपुर में अबला की रोटी मांगते हुए अस्मत लूट ली जाती है. महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं. न वो अस्पताल, न घर और न ही स्कूल में महफूज हैं. भरतपुर में 3 सगे भाइयों को मार डाला गया. पुजारियों को जलाया जा रहा है. जन घोषणा-पत्र के वादे इस सरकार ने निभाए नहीं.

पूनिया का आरोप सरकार अब भी 99 के फेर में है
पूनिया ने गहलोत सरकार पर आरोपी की झड़ी लगाते हुए कहा कि 1500 दिन हो गए किसानों की कर्जमाफी नहीं हुई. किसानों को आत्महत्याएं करनी पड़ी. उनकी जमीनें कुर्क हुई हैं. 70 लाख अभ्यर्थियों ने नौकरी के लिए एक्जाम दिया लेकिन सरकार एक लाख से ज्यादा नौकरी नहीं दे पाई. रीट की चीट ने प्रदेश के युवाओं को झकझोर कर रख दिया. पेपर तब लीक होते हैं जब सरकार वीक होती है. सरकार अब भी 99 के फेर में है. बिजली की कीमतें बढ़ा दी गई. अस्पताल और स्कूल हाल बेहाल हैं. पूनिया ने दावा किया कि बीजेपी आम जनता की उम्मीदों पर खरा उतरेगी और अगले साल भारी बहुमत से सरकार बनाएगी.

Share:

Next Post

राहुल की तेज चाल, नेता चलते-चलते बेहाल

Mon Nov 28 , 2022
राहुल का टाइम मैनेजमेंट इतना तगड़ा कि देर तक सोने वाले नेताओं को उनके साथ ही जल्दी उठना पड़ता है इंदौर, संजीव मालवीय। 52 साल के राहुल गांधी अब तक 81 दिन की यात्रा पूरी कर चुके हैं। इन 81 दिनों में 7 राज्यों के 35 जिले वे नाप चुके हैं। करीब 2200 किलोमीटर वे […]