विदेश

बोरिस जॉनसन ने जेलेंस्की से कहा- युद्ध में हथियारों की कमी नहीं होने देंगे

लंदन: रूस-यूक्रेन युद्ध (Russo-Ukraine War) को पूरे दो महीने हो गए है और पूरी दुनिया इससे प्रभावित हो चुकी है लेकिन युद्ध कम होने के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं. रूस ने यूक्रेन पर अपना हमला और तेज ही कर दिया है. पश्चिमी देश रूस के खिलाफ यूक्रेन को मजबूत बनाने की अपनी दिशा में हथियार और गोला बारूद की आपूर्ति (ammunition supply) करने में लगा है. इस बीच ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Prime Minister Boris Johnson) ने भारत की यात्रा से जाने के बाद कहा है कि ब्रिटने रूस के खिलाफ यूक्रेन की लड़ाई में मदद करता रहेगा और अब अधिक सैन्य सहायता की आपूर्ति करेगा.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky )से कहा कि उनकी सरकार रूस के खिलाफ यूक्रेन की लड़ाई में उसे अत्यावश्यक रक्षा उपकरणों के रूप में और अधिक सैन्य सहायता भेजेगी. शनिवार को दोनों नेताओं की फोन पर हुई बातचीत में जॉनसन ने कहा कि ब्रिटेन और अधिक आपूर्ति वाहन, ड्रोन तथा टैंक-रोधी आयुध प्रदान करेगा. उन्होंने मारियुपोल, ओडेसा और ल्वीव समेत असैन्य ठिकानों पर रूस के हमलों की निंदा भी की.


जॉनसन ने जेलेंस्की को रूसी सेना के सदस्यों के खिलाफ ब्रिटेन की ओर से लागू नयी पाबंदियों की जानकारी दी तथा इस बात की पुष्टि की कि यूक्रेन की जनता के प्रति समर्थन और एकजुटता दिखाते हुए ब्रिटेन अगले सप्ताह कीव में अपना दूतावास फिर से खोलेगा. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के एक प्रवक्ता ने कहा, प्रधानमंत्री ने इस बात की पुष्टि की कि ब्रिटेन रक्षात्मक वाहनों, ड्रोन एवं टैंक-रोधी आयुध समेत और अधिक रक्षा सैन्य सहायता प्रदान कर रहा है.

राष्ट्रपति जेलेंस्की ने ब्रिटेन में इस समय यूक्रेन के सैनिकों को दिए जा रहे प्रशिक्षण के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया. प्रवक्ता के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि रूस को उसकी कार्रवाइयों के लिए जवाबदेह ठहराया जाएगा और ब्रिटेन की सरकार युद्ध अपराधों के साक्ष्य एकत्रित करने में मदद कर रही है.

उन्होंने राष्ट्रपति को रूस की सेना के सदस्यों के खिलाफ ब्रिटेन की नयी पाबंदियों से भी अवगत कराया और इस बात की पुष्टि की कि ब्रिटेन अगले सप्ताह कीव में अपने दूतावास को पुन: खोलकर यूक्रेन की जनता के प्रति समर्थन और एकजुटता दर्शाएगा. जेलेंस्की और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दोनों की अगले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस से मुलाकात होगी.

Share:

Next Post

जहांगीरपुरी: भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए हिंदू-मुस्लिम ने निकाली तिंरगा यात्रा, लगाए भारत माता के जयकारे

Sun Apr 24 , 2022
नई दिल्ली: दिल्ली के जहांंगीरपुरी (Delhi’s Jahangirpuri) में आज उसी कुशल चौक से तिरंगा यात्रा (tricolor tour) निकली जहां 16 अप्रैल को हिंसा हुई थी, लेकिन आज यहां की तस्वीरें बिल्कुल जुदा थीं. आज भाईचारे की वो तस्वीर दिखी, जो उन लोगो के लिए मुंहतोड़ जबाब थी जो लोगों में मजहबी नफरत बोने का काम […]