जिले की खबरें देश मध्‍यप्रदेश

ग्वालियर में होटल में प्रेमिका के सामने प्रेमी ने लगाई फांसी

ग्वालियर। इन्दरगंज थाना क्षेत्र (Inderganj Police Station Area) में आत्महत्या करने पहुंचे प्रेमी ने प्रेमिका के असफल होने पर पुलिस उनकी कहानी को सुलझा भी नहीं पाई थी कि एक और प्रेमी ने फांसी लगाकर आत्महत्या  (suicide) कर ली। मृतक परिवारिक विवाद के चलते परेशान था और होटल में प्रेमिका को मिलने के लिए बुलाया था। मृतक के परिजनों ने युवती के साथ मारपीट कर दी। पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद शव विच्छेदन गृह भेज आत्महत्या के कारणों की विवेचना प्रारंभ कर दी है।



आमखो विजय नगर में रहने वाला मोनू यादव उम्र 26 वर्ष पिछले दो दिन से जनकगंज थाना क्षेत्र स्थित नई सड़क पर बने शारदा होटल में चौथी मंजिल पर रह रहा था। रविवार को मोनू के पास उसकी महिला मित्र मिलने के लिए आई थी। महिला मित्र के सामने मोनू ने आत्महत्या करने की धमकी दी। बताया गया है कि मोनू आत्महत्या करने की बात को बार बार दोहरा रहा था। उसके खतरनाक इरादे देखकर महिला मित्र कमरे से बाहर निकलकर जाने लगी। मोनू ने कमरा लगाया और फांसी पर लटक गया।

महिला मित्र मोनू के कमरे का दरवाजा लगा लेेने पर पलटकर आई और उसे दरवाजा खोलने के लिए आवाजें लगाने लगी। शोर की आवाज सुनकर होटल स्टाफ भी आ गया और जब उन्होंने दरवाजा खोला तो मोनू फांसी पर लका हुआ था। महिला मित्र ने मोनू को फांसी से उतारने का भी प्रयास किया, लेकिन देर हो चुकी थी। फांसी लगाकर मोनू ने आत्महत्या कर ली थी। मोनू के फांसी लगाने की सूचना मिलने पर उसके परिजन भी होटल पर पहुंच गए। परिजनों ने मोनू की महिला मित्र को देखकर उसकी मारपीट कर दी। पुलिस और होटल स्टाफ ने उसे बचाकर थाने पहुंचाया। जनक्रगंज थाना प्रभारी डॉ. संतोष यादव ने कहा कि मोनू यादव का अपनी भाभी से झगड़ा हो जाने पर वह दो दिन से होटल में ही रुका था। मोनू तनाव में चल रहा था। अचानक उसने फांसी किन परिस्थितियों में लगाई यह तो जांच के बाद ही पता लब सकेगा। युवती की मृतक से पहचान थी। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

Share:

Next Post

भारतीय बाजारों से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने फरवरी में निकाले 35,506 करोड़ रुपये

Sun Feb 27 , 2022
नई दिल्ली। लगातार पांचवें महीने बिकवाली का सिलसिला (sell-off) जारी रखते हुए विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPIs) ने फरवरी में भारतीय बाजारों से 35,506 करोड़ रुपये निकाले। एफपीआई अक्टूबर, 2021 से लगातार भारतीय बाजारों से निकासी कर रहे हैं। फरवरी, 2022 में एफपीआई की निकासी मार्च, 2020 के बाद सबसे ऊंची रही है। उस समय एफपीआई […]