देश

गश्त के दौरान अचानक लापता हुआ BSF का जवान, अगले दिन जंगल में मिली लाश

कांकेर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में सीमा सुरक्षा बल के एक जवान ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि जवान ने अपनी सर्विस हथियार से खुद को गोली मार ली। पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार को इस घटना के बारे में जानकारी दी। बताया जा रहा है कि जंगल में गश्ती के दौरान बीएसएफ की 94वीं बटालियन में तैनात हवलदार मदन कुमार अचानक लापता हो गए। काफी तलाश के बाद भी उनकी कोई जानकारी नहीं मिल सकी। अगले दिन हवलदार मदन कुमार का शव जंगल से बरामद हुआ। शव के पास से ही उनकी राइफल भी बरामद हुई।


मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को जिले के छोटे बेठिया इलाके में गश्त के दौरान बीएसएफ की 94वीं बटालियन के हवलदार मदन कुमार लापता हो गए थे। उन्होंने बताया कि मदन कुमार जिले के बांदे थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थित मरबेड़ा बीएसएफ शिविर में तैनात थे। अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को मरबेड़ा और छोटे बेठिया के बीच बीएसएफ का दल गश्त पर था। गश्ती दल के अपने शिविर पर लौटने के बाद कुमार लापता हो गए। उन्होंने बताया कि जब जवान वापस नहीं लौटा तब सुरक्षाबल के जवानों ने उसकी तलाश शुरू की।

अधिकारियों ने बताया कि आज की सुबह जंगल में हवलदार मदन कुमार का शव बरामद किया गया। उसके सिर पर गोली लगी थी। शव के करीब उसकी राइफल को भी बरामद कर लिया गया। पुलिस अधिकारियों ने बताया, ”प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का मामला लगता है, लेकिन जांच के बाद और अधिक जानकारी सामने आएगी।” उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए पखांजूर भेज दिया गया है और मामले की जांच जारी है। नक्सल विरोधी अभियानों के लिए कांकेर जिले में बड़ी संख्या में बीएसएफ के जवानों को तैनात किया गया है।

Share:

Next Post

नीट परीक्षा में हुई धांधली के विरोध में शहर एवं जिला कांग्रेस में ज्ञापन दिया

Fri Jun 21 , 2024
इंदौर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सम्मानित अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडके के आह्वान पर एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी के निर्देश पर इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरजीत सिंह चड्ढा एवं जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सदाशिव यादव ने नीट परीक्षा में हुई अनियमितता एवं धांधली के विरोध में महामहिम राष्ट्रपति महोदया […]