बड़ी खबर

J&K से अनुच्छेद 370 हटाने का केंद्र का फैसला बरकरार: सुप्रीम कोर्ट का फैसला

नई दिल्ली। देश के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पांच न्यायधीशों की पीठ ने सुबह 11 बजे ही इस मामले में फैसला पढ़ना शुरू किया। इस पीठ में सीजेआई के अलावा, जस्टिस संजय किशन कौल, संजीव खन्ना, बीआर गवई और सूर्यकांत हैं। गौरतलब है कि सितंबर माह में लगातार 16 दिनों तक सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।


तीन अलग-अलग फैसले
अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के खिलाफ फैसला सुनाने के लिए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि पांच जजों के तीन अलग-अलग फैसले हैं। जिन तीन फैसलों को सुनाया जाना है, उस पर सभी एकमत हैं।

चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि हमने उस दौरान राज्य में लगे राष्ट्रपति शासन पर फैसला नहीं लिया है। स्थिति के अनुसार राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है। अनुच्छेद 356 में राष्ट्रपति को शक्तियां हासिल हैं। उसे चुनौती नहीं दी जा सकती है। संवैधानिक स्थिति यही है कि उनका उचित इस्तेमाल होना चाहिए। अनुच्छेद 356 – राज्य सरकार भंग कर राष्ट्रपति शासन लगाने की बात करता है। राष्ट्रपति शासन के दौरान केंद्र राज्य सरकार की जगह फैसले ले सकता है। संसद राज्य विधानसभा की जगह काम कर सकता है।

Share:

Next Post

Bhopal : टीआई को जान से मारने की धमकी देने वाला कुख्यात बदमाश नसीम का शॉर्ट एनकाउंटर

Mon Dec 11 , 2023
भोपाल (Bhopal) । टी आई (TI) को जाने से मारने की धमकी (threat to kill) देने वाले कुख्यात बदमाश नसीम बन्ने खां (Naseem Banne Khan) का सोमवार को शॉर्ट एनकाउंटर (short encounter) हो गया। क्राइम ब्रांच पुलिस को इसके मनुवा भान टेकरी पर छिपने होने की सूचना मिली थी। इसके बाद जब क्राइम ब्रांच ने […]