उज्‍जैन न्यूज़ (Ujjain News)

बारिश में बिजली विभाग के झोनों पर शिकायतें बढ़ी

  • हेल्प लाइन 1912 पर शिकायत के लिए फोन लगाने पर कई मिनट तक की जाती है लंबी पूछताछ-लोग परेशान

उज्जैन। विद्युत वितरण कंपनी ने उपभोक्ताओं की समस्या के निदान के लिए अपना हेल्प लाईन नंबर 1912 जारी कर रखा है। इसके जरिये किसी भी तरह की समस्या आने पर उपभोक्ता को संपर्क का कहा जाता है। लोग जब इस पर शिकायत के लिए फोन लगाते हैं तो काफी देर तक दूसरी ओर से उपभोक्ता से सवाल किए जाते हैं। बरसात में सभी झोनों पर बिजली संबंधी शिकायतें बढ़ गई है। बिजली विभाग समस्या निदान करने वाले हेल्प लाईन नंबर 1912 को लेकर आम उपभोक्ता खुश नहीं हैं। उनका कहना है कि इससे तो पहले वाली व्यवस्था बेहतर थी जिसमें संबंधित झोन को लेंडलाईन पर फोन लगाया जाता था और समस्या दर्ज हो जाती थी। जब से बिजली विभाग ने 1912 हेल्प लाईन शुरु की है, तब से शिकायत दर्ज कराने में परेशानी आने लगी है। हेल्प लाईन नंबर पर फोन लगाते ही दूसरी ओर से एक के बाद एक उपभोक्ता से विवरण पूछा जाता है। उदाहरण के तौर पर हेल्प लाईन पर फोन कनेक्ट होने के बाद उधर से पहला सवाल यही होता है कि आपका नाम क्या है? उसके तत्काल बाद मोहल्ला और शहर का नाम पूछा जाता है। यहाँ तक उपभोक्ताओं को कोई दिक्कत नहीं होती। इसके बाद मोहल्ले और नगर का नाम बताते ही संबंधित झोन कार्यालय का नाम और ऐरिया बताने का कहा जाता है। उपभोक्ता जब यहाँ तक जानकारी दे देता है तो अगला सवाल शिकायतकर्ता के बिजली मीटर के बारे में पूछा जाता है और उसका सर्विस नंबर मांगा जाता है। ऐसे में ज्यादातर उपभोक्ताओं को अपने यहाँ लगे बिजली मीटर का सर्विस नंबर तत्काल याद नहीं हो पाता और जवाब दे नहीं पाते। कम पढ़े लिखे लोगों को इसमें ज्यादा समस्या आती है।


स्ट्रीट लाईट की ज्यादा शिकायतें
बिजली विभाग की हेल्प लाईन 1912 पर बरसात के दिनों में स्ट्रीट लाईट बंद होने की शिकायतें अधिकांश झोन में हो रही है। कल रात भी आगर रोड तथा एमआर-5 मार्ग की सभी कॉलोनियों की स्ट्रीट लाईट रात 8 बजे से गुल हो गई थी। लोगों ने इसकी शिकायत भी की लेकिन आज सुबह तक सुधार नहीं होने से दर्जनों कॉलोनियों की सड़कों पर अंधेरा पसरा रहा।

नहीं हो पाता निदान
1912 हेल्प लाईन पर उपरोक्त सवालों में से ज्यादातर उपभोक्ता एक भी सवाल का जवाब अगर चूकते हैं तो उनकी समस्या का निदान नहीं हो पाता। यही कारण है कि उपभोक्ताओं को इस हेल्प लाईन से बराबर मदद नहीं मिल पा रही। लोगों का कहना है कि इससे तो पहले वाली व्यवस्था बेहतर थी। जब विद्युत संबंधी कोई भी समस्या आती तो ऐरिये के झोन को फोन लगाते थे।

चुनाल में अटके काम
उपरोक्त समस्याओं के निदान के लिए अंत में उपभोक्ता को शिकायत दर्ज कराने के लिए अपने ऐरिया के झोन कार्यालय जाना पड़ता है। वर्तमान में वैसे ही भारी भरकम बिजली बिलों की राशि कम करवाने के लिए उपभोक्ताओं की भीड़ पड़ रही है। ऐसे में समस्या वाले लोगों के कारण इसमें और इजाफा हो रहा है। चुनाव के कारण झोनों पर बिल के सुधार के काम भी अटके पड़े हैं।

Share:

Next Post

घर में घुस कर एक ही परिवार चार सदस्यों पर तलवार से हमला

Sun Jul 10 , 2022
रीवा। शहर में आपराधिक घटनाओं में काफी तेजी के साथ इजाफा हुआ है। इसी कड़ी में सिटी कोतवाली के मालदीप चौराहा स्थित एक मकान में बीती रात बेखौफ अपराधियों ने एक ही परिवार के चार लोगों पर लाठी-तलवार से हमला कर घायल कर दिया। इस दौरान मौके पर चीख पुकार की स्थिति बनी रही। घायल […]